कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण अमेरिका में फीका पड़ा रहा ‘थैंक्सगिविंग’

 

कोविड-19 वैश्विक महामारी की पहली लहर का प्रकोप धीमा पड़ने के बाद अमेरिका में कई लोगों ने इस बार ‘थैंक्सगिविंग’ के मौके पर एक-दूसरे से मिलने की योजना बनाई थी, लेकिन वायरस ने उनकी इन योजनाओं पर पानी फेर दिया है। मिशिगन अब देश में वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर है। यहां के अस्पतालों में मरीजों की संख्या फिर से बढ़ रही है और स्कूल फिर से ऑनलाइन शिक्षण माध्यम की तरफ लौटने को मजबूर हो गए हैं।

अमेरिका में पुन: पैर पसार रहे वायरस के हर दिन 95,000 मामले सामने आ रहे हैं। मिनेसोटा, कोलोराडो और एरिजोना के अस्पतालों पर भी बोझ बढ़ गया है और स्वास्थ्य अधिकारी उन लोगों से यात्रा न करने की अपील कर रहे हैं जिन्होंने टीका नहीं लगवाया है। कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के तरीकों को लेकर जारी बहस और पहले की ही तरह राजनीतिक वाद-विवाद के बीच सामाजिक मेल मिलाप को लेकर अमेरिका के परिवार पशोपेश में हैं।

वार्षिक परंपराओं को निभाने को आतुर उनके मन में कई सवाल खड़े हो गए हैं कि क्या वे फिर से रिश्तेदारों को मिलने बुला सकते हैं? क्या वह बड़ा आयोजन कर सकते हैं? क्या वह परिवार के उन लोगों को बुला सकते हैं जिन्होंने टीका नहीं लगवाया है? क्या किसी मेहमान को बुलाने से पहले उन्हें कोविड-19 जांच की नेगेटिव रिपोर्ट मांगनी चाहिए? वित्त से जुड़ी कंपनी में बतौर डेटा एडमिनिस्ट्रेटर काम करने वालीं 58 वर्षीय क्रेल के परिवार का आयोजन टल गया है। वह परंपरा के मुताबिक टर्की भून रही हैं, सलाद तैयार कर रही हैं लेकिन यह सब उनका परिवार अकेले करेगा, कोई उनके साथ इस जश्न में कोई शामिल नहीं हो पाएगा। क्रेल की तरह ही कई अमेरिकी इस मौके पर बड़े आयोजन को लेकर असमंजस में पड़े हुए हैं।

From around the web