अफगान शरणार्थी मुद्दे पर विरोध की आवाज बुलंद कर रहे हैं ट्रंप के पूर्व सहयोगी

 

तालिबान के डर से भाग कर हजारों अफगान शरणाथियों के अमेरिका आने पर पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन में काम कर चुके कुछ अधिकारी रिपब्लिकन सांसदों का उनके खिलाफ करने के लिए काम कर रहे हैं। पूर्व अधिकारी इस मुद्दे पर दलीलें देते हुए पत्र लिख रहे हैं और रिपब्लिकन सांसदों से निजी रूप से मुलाकात कर रहे हैं ताकि अफगानिस्तान में सरकार गिरने के अवसर का कट्टर आव्रजन एजेंडा चलाने के तौर पर इस्तेमाल किया जा सके।

ट्रंप प्रशासन की सबसे रूढ़िवादी आव्रजन नीतियों के वास्तुकार रहे स्टीफन मिलर ने कहा, ”यह आपसी विश्वास पर आधारित सहयोग है। मेरा जोर है कि बाइडेन प्रशासन की शरणार्थियों योजनाओं का विरोध करने के लिए समर्थन हासिल करने के वास्ते कांग्रेस सदस्यों से बातचीत की जाए।” अमेरिका में अफगान शरणार्थियों के लिए बस्ती बनाने का विरोध कर रहे एक गैर लाभकारी समूह के अध्यक्ष एवं ट्रंप के पूर्व बजट प्रमुख रुस वॉट ने कहा, ”राजनीतिक दृष्टिकोण से अमेरिकी लोगों के मन में सांस्कृतिक मुद्दे सबसे महत्वपूर्ण हैं।”

पूर्व अधिकारियों का कहना है कि देश में आने वाले प्रत्येक अफगान नागरिक की खुफिया, कानून प्रवर्तन तथा आतंकवाद रोधी कर्मियों द्वारा कड़ी जांच होनी चाहिए। ट्रंप और उनके सहयोगियों का कहना है कि शरणार्थी देश की सुरक्षा को खतरा पैदा कर रहे हैं। ट्रंप ने हाल में एक बयान में पूछा था, ”हमारे देश में आने वाले सभी लोग कौन हैं? उनमें से कितने आतंकवादी हैं?’

From around the web