The bark of Ashoka tree is very beneficial for diabetic patients, know how to consume it to reduce blood sugar level.

0
112

डायबिटीज या मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिसका कोई इलाज नहीं है लेकिन इसे कंट्रोल जरूर किया जा सकता है पिछले कुछ सालों में शुगर के मरीजों की संख्या में काफी तेजी आई है जिसका मुख्य कारण कसरत न करना ,जनक फ़ूड का अधिक सेवन करना आदि शामिल है पहले जहां बुजुर्ग ही इसकी चपेट में आते थे वहीं आज युवा भी तेजी से इसकी गिरफ्त में आते जा रहे है लेकिन आपको बता दें की ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना होगा अगर इसे कंट्रोल नहीं किया जाए तो आपकी बॉडी के विभिन्न अंगों पर बुरा असर पड़ता है  

ashoka
डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए लोग कई तरह के उपाय अपनाते है ऐसे में आपके लिए अशोक के पेड़ की छाल भी एक बेहतर ऑप्शन हो सकती है औषधीय गुणों से भरपूर अशोक ब्लड शुगर कंट्रोल करने के साथ -साथ कई बिमारियों से बचाव करता है आज हम आपको बताएंगे की डायबिटीज के मरीज अशोक की छाल का सेवन किस तरह करें 
एक रिसर्च के अनुसार अशोक की छाल में एंटी डायबिटीज का गुण पाया जाता है जो की शर्करा की मात्रा को ब्लड में बढ़ने से रोकने का काम करता है साथ ही इसके फूलों में हाइपोग्लाइसेमिक पाया जाता है जो इन्सुलिन की सक्रिय को बढ़ाकर खून में शुगर की मात्रा को कंट्रोल करता है इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर्स से राय लेनी चाहिए उसके बाद उपयोग करना चाहिए 

डायबिटीज के मरीज सबसे पहले अशोक की छाल को जामुन के साथ बराबर मात्रा में मिलकर चूर्ण बना लें अब इस चूर्ण को रात में सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ सेवन करें यह डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी लाभकारी हो सकता है 

ashoka

इसके अलावा आप अशोक के फूलों को सुखाकर पाउडर बना लें अब इसे रोजाना करीब 1 से 3 ग्राम पाउडर को खाएं ऐसा करने से भी ब्लड शुगर कंट्रोल हो सकता है 
अशोक की छत नीम की छाल और हल्दी को बराबर मात्रा में मिलाकर पाउडर बना लें अब 100 ग्राम पानी में इस पाउडर को मिलाकर काढ़ा बना लें जब काढ़ा 10 -20 मिली बच जाए तो गैस बंद कर दें अब रोजाना सुबह खली पेट इसका सेवन करें