सचिन की नकल करने का प्रयास करता था : सहवाग

 

टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने पुरानी बातों को याद करते हुए कहा कि वह लंबे समय तक अपने सलामी जोड़ीदार रहे सचिन तेंदुलकर की नकल करने का प्रयास करते थे। सहवाग ने कहा कि मैंने पहली बार सन 1992 विश्व कप में सचिन को टीवी पर बल्लेबाजी करते देखा था। सहवाग ने कहा ,' क्रिकेट मैदान पर खेला जाता है पर देखकर भी काफी कुछ सीखा जा सकता है। यदि मैं अपनी बात करुं तो मैंने साल 1992 विश्व कप से क्रिकेट देखना शुरू किया था। उस समय मैं सचिन की बल्लेबाजी देखकर उनकी नकल करने का प्रयास किया करता था। ' सहवाग ने कहा ,' वह कैसे स्ट्रेट ड्राइव लगाते थे या बैकफुट पंच मारते थे। मैने 1992 में टीवी पर देखकर ही काफी कुछ सीखा।' सहवाग ने कहा कि उन्होंने स्ट्रेट ड्राइव ही सचिन को देखकर सीखा था। सहवाग ने साथ ही कहा ,'हमारे समय में ऐसी सुविधायें नहीं थी कि किसी से ऑनलाइन बात करके या वीडियो सबस्क्राइब करके सीखा जा सके। अगर ऐसा होता तो मैं जरूर करता और बेहतर सीख पाता।' खेल के मानसिक और तकनीकी दोनों पहलुओं पर जोर देते हुए सहवाग ने कहा ,' मानसिक पहलू अहम है और हमने उसी को ध्यान में रखकर एक ऐप लांच किया गया है जिस देखकर युवा खिलाड़ियों को लाभ होगा। इसके बाद हम क्रिकेट की तकनीक पर बात करेंगे।'

From around the web

>