विश्व चैंपियनशिप में रिकार्ड बनाने की तैयारियों में लगे हैं थापा

 

 भारत के शीर्ष मुक्केबाजों में से एक शिव थापा की निगाह अगले महीने होने वाली विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतकर नया रिकार्ड बनाने पर लगे हैं और वह जानते हैं कि टीम का सबसे अनुभवी सदस्य होने के कारण उनकी जिम्मेदारी भी सबसे अधिक है। लाइट वेल्टरवेट (63.5 किग्रा) के मुक्केबाज और पांच बार के एशियाई चैंपियन थापा तीसरी बार विश्व चैंपियनशिप में भाग लेंगे जिसका आयोजन सर्बिया के बेलग्रेड में 24 अक्टूबर से किया जाएगा।

उन्होंने कहा, ”सबसे अधिक अनुभवी होने के मतलब अधिक जिम्मेदारी है। मैं इसे इस तरह से देखता हूं। मेरा काम यह सुनिश्चित करना है कि टीम में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे।” तोक्यो ओलंपिक में जगह नहीं बना पाने वाले थापा ने हाल में बेल्लारी में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में खिताब जीता था।

वह विश्व चैंपियनशिप में दो पदक जीतने वाले पहला भारतीय पुरुष मुक्केबाज बनने के लिये पूरी तरह से तैयार हैं। थापा ने कहा, ”हमारी टीम वास्तव में अच्छी है। मुझे विश्वास है कि हम सभी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। यह मेरी तीसरी विश्व चैंपियनशिप है और अगर मैं पदक जीतता हूं तो यह यादगार बन जाएगी।” यह अनुभवी मुक्केबाज राष्ट्रीय चैंपियनशिप में अच्छा प्रदर्शन करके अपनी तैयारियों को लेकर आश्वस्त है।

उन्होंने कहा, ”मैंने जितनी भी राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लिया उनमें यह सबसे कड़ी थी। शायद इसलिए कि स्वर्ण पदक विजेता को विश्व चैंपियनशिप के लिये चुना जाना था। लेकिन मैंने किसी भी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ इसे हल्के से नहीं लिया।” थापा ने कहा, ”राष्ट्रीय चैंपियनशिप से पहले तैयारी करना चुनौती थी। मैं घर में तैयारी कर रहा था लेकिन वह शिविर जैसी तैयारी नहीं थी। मैंने अपने मित्र कविंदर (बिष्ट) को फोन किया जो कि वायुसेना में है और उन्होंने मुझे बेंगलुरू आकर अपने शिविर में अभ्यास के लिये आमंत्रित किया।” उन्होंने कहा, ”मैं राष्ट्रीय चैंपियनशिप से तीन चार दिन पहले वहां पहुंचा और इससे मेरी तैयारियों में काफी मदद मिली।”

From around the web