भारतीय महिला फुटबॉल टीम अगले महीने खेलेंगी चार अंतर्राष्ट्रीय मैत्री मैच

 

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने अगले महीने भारतीय महिला फुटबॉल टीम के लिए चार अंतर्राष्ट्रीय मैत्री मैचों की व्यवस्था की है। ये चारों मैच दुबई और मनामा में खेले जाएंगे। भारत अगले साल की शुरुआत में घर पर खेले जाने वाले एएफसी महिला एशियाई कप 2022 की तैयारी कर रहा है। टीम एक महीने से अधिक समय पहले रांची में इकट्ठी हुई थी और कोच थॉमस डेनेरबी के तहत प्रशिक्षण ले रही है। अब उन्हें प्रशिक्षण में सीखी गई बातों को अमल में लाने का मौका मिलेगा।

भारतीय टीम 2 अक्टूबर को मेजबान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से भिड़ेगी। इसके बाद टीम 4 अक्टूबर को ट्यूनीशिया का सामना करेगी। इस मैच के बाद टीम मनामा जाएगी जहां उनका सामना बहरीन (10 अक्टूबर) और चीनी ताइपे (13 अक्टूबर) से होगा। एआईएफएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “कोविड -19 के समय में अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच की व्यवस्था करना आसान नहीं है। हमारे पास अगले महीने चार अंतरराष्ट्रीय मैच हैं, और एक बार जब हम इन मैचों में खेल लेंगे, तो इसके बाद स्वीडन में दो शीर्ष स्तरीय क्लब मैच खेलने की योजना है।”

10 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने की जरूरत

बता दें कि डेनेरबी के कोचिंग में स्वीडन ने 2011 विश्व कप में तीसरा स्थान व 2012 के लंदन ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल में जगह बनाया था। उन्होंने 2019 महिला विश्व कप में नाइजीरिया को भी कोचिंग दी और अब भारत को एशियाई कप 2022 के नॉकआउट चरण में ले जाने की जिम्मेदारी ली है।भारत के पास कोई भी मौका होने के लिए, डेनेरबी को लगता है कि टीम को कम से कम 10 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने होंगे। डेनेरबी ने कहा,”टूर्नामेंट शुरू होने से पहले हमें कम से कम 10 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने की जरूरत है। हमें विभिन्न शैलियों के साथ विभिन्न प्रकार के विरोधियों से खेलने की जरूरत है।” बता दें कि भारत 1979 के संस्करण के बाद दूसरी बार एएफसी महिला एशियाई कप की मेजबानी करेगा। यह टूर्नामेंट 20 जनवरी से 6 फरवरी 2022 तक मुंबई, नवी मुंबई और पुणे में खेला जाएगा।

From around the web