संन्यास लेने के मात्र 8 दिन बाद Bhanuka Rajapaksa ने किया वापसी का ऐलान, नए नियम बने वजह

 

हाल ही में श्रीलंका के बल्लेबाज भानुका राजपक्षे (Bhanuka Rajapaksa) ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. भानुका राजपक्षे (Bhanuka Rajapaksa) के अचानक संन्यास लेने से श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड समेत कई सीनियर खिलाड़ी हैरान थे. वहीं, अब राजपक्षे ने एक बार फिर से अपना फैसला बदलते हुए श्रीलंका के लिए खेलने की बात कही है.

पारिवारिक कारणों का दिया था हवाला

Bhanuka Rajapaksa

दरअसल श्रीलंकाई बल्लेबाज भानुका राजापक्षे (Bhanuka Rajapaksa) ने 5 जनवरी को सभी को चौकाते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया है. इसके पीछ उन्होंने पारिवारिक कारणों का हवाला दिया था. लेकिन उनके इस फैसले को लेकर काफी ज्यादा निराशा भी देखने को मिली थी.

5 जनवरी को किया था संन्यास का ऐलान

Bhanuka Rajapaksa

बता दें कि भानुका राजापक्षे (Bhanuka Rajapaksa) के मजह 30 की उम्र में अचानक संन्यास लेने से हर कोई हैरान है. उन्होंने साल 2019 में टी 20 इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू में किया था. वहीं, पिछले साल 2021 में उन्होंने अपना पहला वनडे खेला था. हालांकि अब संन्यास का ऐलान करने के 8 दिन बाद यह साफ किया है कि वह तीनों फॉर्मेट के लिए उपलब्ध रहेंगे.

रोशन अबेसिंघे ने ट्वीट कर दी जानकारी

बता दें कि 13 जनवरी को प्रसिद्ध क्रिकेट प्रशासक रोशन अबेसिंघे ने ट्विटर के जरिए भानुका राजापक्षे (Bhanuka Rajapaksa) के उनके संन्यास के फैसले को पलटने के बारे में बताया गया. जिसमें उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, हम सभी के लिए एक शानदार खबर है, जिसमें भानुका ने अपने संन्यास के फैसले को वापस ले लिया है और वह एकबार फिर से टीम के साथ खेलते हुए दिखाई देंगे.

श्रीलंका बोर्ड द्वारा लागू किए हैं 3 नए नियम

Sri Lanka Cricket Team

खिलाड़ियों द्वारा अचानक संन्यास लेने को ध्यान में रखते हुए Sri Lanka Cricket Board ने तत्काल रुप से 3 नए और कड़े नियम लागू किए हैं. जिसका सभी खिलाड़ीयों को पालन करना होगा. अब संन्यास लेने से पहले खिलाड़ियों को इन 3 नियमों पर विचार करना होगा. जिसके बाद ही वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर सकते हैं.

1 – हर खिलाड़ी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले बोर्ड को 3 महीने पहले इसकी जानकारी देनी होगी.

2 – यदि संन्यास के बाद किसी खिलाड़ी को विदेशों में हो रहे क्रिकेट लीग में खेलना है तो, ऐसे में उस खिलाड़ी को बोर्ड से अनापत्ती प्रमाण पत्र लेना होगा. जो संन्यास लेने के 6 महीने के बाद ही दिया जाएगा.

3- इसके साथ ही सेवानिवृत्त राष्ट्रीय खिलाड़ियों को लंका प्रीमियर लीग में हिस्सा लेने के लिए तभी योग्य माना जाएगा. जब वे घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं में 80 प्रतिशत मैच खेले हों.

अब तक के करियर पर एक नजर

Bhanuka Rajapaksa

बता दें कि भानुका राजपक्षे (Bhanuka Rajapaksa) ने श्रीलंका के लिए अब तक मात्र 5 वनडे और 18 टी20 मुकाबले खेले हैं. जिसमें उन्होंने कुल 409 रन बनाए हैं. इसमें दो अर्धशतक भी शामिल है. हालही में समाप्त हुए टी 20 विश्वकप 2021 में भी वह टीम का हिस्सा थे. जिसमें उन्होंने 8 मैचों में बल्लेबाजी करते हुए कुल 155 रन बनाए थे.

From around the web