सीरीज हारने के बाद कप्तान कोहली बोले- हमें बल्लेबाजों ने किया निराश

 

दक्षिण अफ्रीका से 2-1 से सीरीज में मिली हार के बाद, भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने बल्लेबाजों के बेहतर न करने पर अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि टीम तीन मैचों की श्रृंखला में विफलताओं के बावजूद, सीनियर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे का समर्थन करना जारी रखेगी। बता दें कि 1-0 से आगे रहने के बाद भारत जोहान्सबर्ग और केपटाउन में अगले दो मैच हार गया और दक्षिण अफ्रीका में अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीतने का मौका भी गंवा दिया।

कोहली ने कहा, “बल्लेबाजी ने हमें निराश किया है। इससे भागना नहीं है, बल्कि इसे स्वीकार करना है। मैं भविष्य के बारे में नहीं बता सकता, क्योंकि यह मेरा काम नहीं है। यह चयनकर्ताओं का काम है। लेकिन हम चेतेश्वर और रहाणे का समर्थन करना जारी रखेंगे। हमारी टीम बहुत प्रेरित और दुनिया में हर जगह जीतने के लिए उत्सुक है और ऐसा करने के बाद, इस हार को स्वीकार करना बहुत मुश्किल है। हम बहुत निराश हैं।”

निचले क्रम के बल्लेबाज पूरी तरह फेल

कोहली ने आगे कहा कि निचले क्रम सहित बल्लेबाजी एक टीम के रूप में इस अवसर पर खरी नहीं उतरी। सेंचुरियन में पहली पारी में 327 रन बनाने के बाद भारत ने बाकी सीरीज में 174, 202, 266, 223 और 198 का स्कोर ही बनाया। उन्होंने कहा, “जब हम बल्लेबाजी कहते हैं, तो हमारा मतलब नंबर आठ और दस से भी होता है। यह एक सामूहिक जिम्मेदारी है। हर कोई इसे जानता है। हमने समूहों में बहुत सारे विकेट गंवाए, यही वजह है कि हम यह श्रृंखला हार गए।”

डीन एल्गर एलबीडब्ल्यू विवाद के बारे में बात करते हुए कोहली ने इस विषय में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। कोहली ने कहा, “मुझे इस पर कोई टिप्पणी नहीं करनी है। मुझे अब इस विषय में बोलकर विवाद खड़ा करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। हम इसे आगे बढ़ गए हैं। वास्तविकता यह है कि हमने उन पर पर्याप्त दबाव नहीं बनाना, जिससे वह सीरीज जीतने में कामयाब रहे।”

From around the web