23 साल की चिंकी ने सरनोबत को 4-3 से पछाड़ा

 

युवा निशानेबाज चिंकी यादव ने बुधवार को दिल्ली स्थित डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में स्वर्ण पदक पर अपना कब्जा जमाया। उन्होंने अपनी कड़ी प्रतिद्वंद्वी राही सरनोबत और मनु भाकर को पछाड़ते हुए यह सम्मान हासिल किया। उनकी इस जीत से भारत ने आईएसएसएफ विश्व कप की महिला 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में तीनों पदक जीत लिए है। इस प्रदर्शन से भारत की निशानेबाजी में प्रतिभा की गहराई का भी अंदाजा लगाया जा सकता है। 23 वर्षीया चिंकी ने 32 अंक के कारण हुए शूट-ऑफ में सरनोबत को 4-3 से पछाड़ दिया। इससे वर्ल्ड कप में भारत के स्वर्ण पदकों की संख्या नौ हो गई। 19 साल की मनु को एलिमिनेशन चरण में 28 अंक से कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। इसके बाद चिंकी और राही सरनोबत के बीच शीर्ष स्थान के लिए कड़ा मुकाबला हुआ। ये तीनों निशानेबाज टोक्यो ओलंपिक के लिए पहले ही अपनी जगह हासिल कर चुकी हैं। चिंकी ने 2019 में दोहा में हुई 14वीं एशियाई चैम्पियनशिप में दूसरे स्थान पर रहकर ओलंपिक कोटा जीता था। पहले ही 20 निशानों में वह 14 के स्कोर से आगे चल रही थी। उनके बाद मनु भाकर 13 अंक से दूसरे स्थान पर थीं। फिर भोपाल की निशानेबाज ने 21 के स्कोर से बाकियों पर बढ़त बना ली जिसके बाद शुरू में जूझने वाली अनुभवी सरनोबत ने भी वापसी की। फाइनल्स में चिंकी ने दो सही निशानों से शुरुआत की, लेकिन फिर दो बार (एलिमिनेशन चरण की दूसरी और छठी सीरीज) पाचों के पांचों निशाने सही लगाए। इन तीनों में सबसे अनुभवी सरनोबत ने पहले चरण की तीसरी सीरीज में सभी पाचों निशानों पर अंक जुटाए, जिसके बाद एलिमिनेशन में चौथी, सातवीं और नौंवी सीरीज में चार चार निशाने लगाए। स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इन्हे ट्वीट कर बधाई दी।

From around the web

>