Russias missile attack continues रूस का मिसाइल हमला जारी

0
57

कीव। यूक्रेन पर रूसी हमले के 78 दिन हो गई हैं इसके बावजूद जंग धीमी पड़ने की बजाय तेज हो गई है। रूस ने यूक्रेन के अलग अलग शहरों पर मिसाइल से हमला तेज कर दिया है। रूस ने पूर्वी यूक्रेन में लुहांस्क के सेवेरोदोनेट्स्क में पिछले 24 घंटे में नौ हवाई हमले किए, जिसमें सात इमारतों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, लुहांस्क में 26 हमले हुए हैं।

एक दूसरे शहर में रूस की बमबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और एक घायल हो गया। रूसी सैनिकों ने चेर्नीहीव पर भी हमले किए, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई और 12 लोग घायल हो गए। यूक्रेनी सेना ने दावा किया है कि रूस ने जंग की शुरुआत से अब तक करीब आठ सौ क्रूज और बैलिस्टिक मिलाइलें दागी हैं। गौरतलब है कि राजधानी कीव से पीछे हटने के बाद से रूस पूर्वी यूक्रेन के डोनेट्स्क और लुहांस्क इलाके को निशाना बना रहा है। नौ मई को रूस के विजय दिवस समारोह के बाद से रूसी हमले तेज हुए हैं।

इस बीच रूस की ओर से फिनलैंड और स्वीडन पर हमले की तैयारियों की खबर आने के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने स्वीडन और फिनलैंड को मदद देने का प्रस्ताव रखा है। जॉनसन का कहना है कि ब्रिटेन, स्वीडन को नाटो की सदस्यता देने के पक्ष में है। इस मुद्दे पर वोटिंग में वह समर्थन देगा। फिनलैंड के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ने नाटो के लिए आवेदन देने का समर्थन किया।

देश के राष्ट्रपति सौली नीनिस्टो और प्रधानमंत्री सना मरीन की इस घोषणा का मतलब है कि फिनलैंड ने नाटो की सदस्यता लेने का अब पूरी तरह मन बना लिया है, लेकिन आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ कार्रवाई अभी बाकी हैं। पड़ोसी देश स्वीडन भी आने वाले दिनों में नाटो में शामिल होने पर फैसला कर सकता है। नीनिस्टो और मरीन ने एक साझा बयान में कहा- अब जब फैसला करने की घड़ी नजदीक आ गई है, हम संसदीय समूहों और राजनीतिक दलों को जानकारी देने के लिए हमारे समान विचार साझा कर रहे हैं। उन्होंने कहा- नाटो के सदस्य के तौर पर, फिनलैंड पूरे रक्षा गठबंधन को मजबूत करेगा।