बिमारियों से भी जान सकते है आपके घर के किस हिस्से में है वास्तु दोष जानिए आप भी

 

भवन निर्माण के दौरान कई प्रकार के वास्तु दोष रह जाते है इन्हें दूर करने के लिए भवन में ॐ ,स्वस्तिक ,फेंगशुई आदि शुभ -चिन्हों का उपयोग वास्तु -दोष में काफी हद तक राहत प्रदान करता है रोग से जानिए मकान के किस स्थान में वास्तु -दोष है। 

यदि मकान के ब्रह्मस्थल में दोष है और आप अक्सर इसमें अपना समय गुजरते है तो आप सर्दी -जुकाम से पीड़ित रहेंगे। 

यदि भवन के अग्नि कोण और ईशान कोण में दोष है तो आपको डायबिटीज होने कि ज्यादा संभावना है यदि परिवार में किसी को डायबिटीज पहले से है तो फिर डायबिटीज को कंट्रोल में लाना मुश्किल रहेगा। 

अगर आपके भवन के उत्तर -पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र  में किसी प्रकार का वास्तु दोष है तो घर में रहने वाले लोग हीन भावना से ग्रस्त रहेंगे। 

यदि आपके घर में वायव्य व नेत्रत्य कोण में कोई दोष है तो आपके बच्चें ,महिलाओं व घर में रहने वाले सदस्य अक्सर डिप्रेशन से ग्रस्त रहेंगे। 

From around the web

>