जीवन में ये 5 चीजें व्यक्ति को बनाती हैं असफल, इनका त्याग ही है बेहत

 

सफल होने के लिए हर व्यक्ति प्रयास करता है। सफलता प्राप्त करने के लिए व्यक्ति कठिन से कठिन कार्य करने के लिए भी तैयार रहता है। चाणक्य के अनुसार सफलता उसी व्यक्ति को मिलती है जो अपने आपको कुंदन की तरह परिश्रम की भट्टी में तपाता है। व्यक्ति से सफलता तब दूर हो जाती है जब उसमें दोष उत्पन्न हो जाते हैं। ये दोष स्वयं व्यक्ति द्वारा उत्पन्न किए जाते है। ये दोष कब उसकी सफलता में बाधा बन जाते हैं स्वयं व्यक्ति को भी इसका अंदाजा नहीं होता है। जब तक वह इन कमियों को समझ पाता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। इसलिए इन गलत आदतों से हमेशा दूर रहना चाहिए। आइए जानते हैं इन आदतों के बारे में।

1. अधिक नींद सफलता से दूर करती है :- अधिक नींद लेने से परिश्रमी व्यक्ति को बचना चाहिए। जीवन में लक्ष्य यदि बड़ा है तो नींद का त्याग कर देना चाहिए। व्यक्ति को एक योगी की तरह ही नींद लेनी चाहिए। अधिक नींद व्यक्ति को परिश्रमी बनने से रोकती है।

2. क्रोध से बचना चाहिए :- क्रोध व्यक्ति का सबसे बड़ा दुश्मन है। यदि इसे मात दे दी तो व्यक्ति को सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है। क्रोध व्यक्ति को हर प्रकार से हानि पहुंचाता है। क्रोध में व्यक्ति अच्छे और बुरे का सही आंकलन नहीं कर पाता है। क्रोध में व्यक्ति स्वयं से नियंत्रण खो देता है इसलिए इसका त्याग ही बेहतर है।

3. भय से दूर रहें :- सफल होने के लिए भय से मुक्ति भी जरुरी है। जब तक व्यक्ति के भीतर भय विराजमान रहेगा तब तक वह किसी भी कार्य को आरंभ नहीं कर पाएगा इसलिए इसका जितनी जल्दी हो सके त्याग कर देना ही उचित है।

4. आलस को पास न आने दें :- आलसी व्यक्ति से लक्ष्मी और सफलता दोनों ही दूर रहते हैं। ऐसे व्यक्ति सदैव ही परेशान और निर्धन रहते हैं। आलस सफलता का शत्रु है। इसलिए इसे हावी नहीं होने देना चाहिए। आलसी व्यक्ति किसी भी कार्य को समय से पूर्ण नहीं कर पाता है।

5. आज का काम कल पर न टालें :- जो व्यक्ति आज के काम को कल पर टालने की प्रवृत्ति बना लेते हैं ऐसे व्यक्ति को सफलता नहीं मिलती है। ऐसे लोग कितने भी योग्य और क्षमतावान ही क्यों न हो यदि वे समय प्रबंधन के मामले में सर्तक नहीं रहते हैं तो सफलता उनसे दूर ही रहती है।

From around the web

>