माता लिंग के रूप में विराजमान है यहां शिव, दर्शनमात्र से होती है संतान प्राप्ति

 
आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे है इस मंदिर का नाम है लिंगाई माता मंदिर आलोर गाँव की गुफा में है इस मंदिर में एक शिवलिंग है, कहते है यहाँ माता लिंग के रूप में विराजमान है शिव और शक्ति के मिले हुए इस रूप को को लिंगाई माता के नाम से जाना जाता है।

पहाड़ी के ऊपर विस्तृत फैला हुआ चट्टान के उपर एक विशाल पत्थर है इस मंदिर के दक्षिण दिशा में एक सुरंग है जो इस गुफा का प्रवेश द्वार है। द्वार इनता छोटा है कि बैठकर या लेटकर ही यहां प्रवेश किया जा सकता है।

इस मंदिर का पट साल में एक बार ही खुलते है उस दिन यहाँ बहुत बड़ा मेला लगता है कहते है की मंदिर में दर्शन मात्रा से निसंतान व्यक्ति को संतान की प्राप्ति होती है।

संतान की प्राप्ति के लिए यहाँ मन्नत मांगने का भी अलग तरीका है कहते है यहाँ शिव जी को खीर चढ़ाना पड़ता है। और पुजारी इस खीरे को वापस कर देता है फिरशिव जी सामने ही इस खीरे को नाख़ून से चिर लगा के पति और पत्नी दोनों को कहना होता है जिससे उनको संतान की प्राप्ति होती है।

From around the web

>