शरीर के इन जगहों पर हो तिल तो माना जाता है अशुभ

 
समुद्रशास्त्र में हथेलियों की रेखाओं, आकृतियों और बनावट से किसी व्यक्ति के भविष्य के बारे में काफी कुछ मालूम किया जाता है। इसके अलावा समुद्रशास्त्र में शरीर के अलग-अलग हिस्सों में बने तिल के महत्व के बारे में भी बताया गया है। शरीर पर बने तिल के कुछ निशान शुभ होते हैं तो कुछ निशान अशुभ।

 समुद्रशास्त्र के अनुसार जिस किसी व्यक्ति के बायीं भौंह पर तिल का निशान बना होता है वह अशुभ होता है। ऐसे व्यक्तियों को दांपत्य जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

गर्दन और कंधे के जोड़ के पास बना तिल शुभ फलदायी नहीं होता है। जबकि गर्दन के पीछे तिल का होना शुभ होता है। जबकि गले में स्थित तिल व्यक्ति को दीर्घायु और अच्छी आवाज का मालिक बनाता है।

 नाक के बायीं तरफ तिल का होना अशुभ माना जाता है। ऐसे में व्यक्ति को किसी भी काम में सफलता हासिल करने के लिए अधिक प्रयास करवाता है।

कान के पास बना तिल पारिवारिक दृष्टि से शुभ नहीं माना जाता है। ऐसे व्यक्ति की रुचि पारिवारिक जिम्मेदारियों एवं दांपत्य जीवन में कम होती है।

जिनके दोनों कंधे पर तिल होता है उन्हें जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ता है। इन्हें कोई भी सफलता आसानी से नहीं मिलती है।

कलाई पर बना तिल जेल की यात्रा करवा सकता है। इसे समुद्रशास्त्र में बहुत ही अशुभ माना जाता है।

पैर की उंगलियों पर तिल का होना भी अशुभ सूचक माना गया है। ऐसा व्यक्ति जीवन में अपने विवेक का इस्तेमाल बहुत कम करता है। वह दूसरों की बुद्धि से काम करता है। 

From around the web

>