आपकी तरक्की को रोकते हैं ये पेड़-पौधे, इन्हें कभी घर के आसपास भी न लगाएं

 

पेड़ पौधों को सनातन धर्म में बहुत पूज्यनीय माना गया है, क्योंकि ये हमें प्राणवायु देते हैं. इसलिए इनकी पूजा भी की जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन पौधों का संबन्ध हमारे जीवन में आ रही सकारात्मकता और नकारात्मकता से भी होता है? वास्तु के मुताबिक कुछ पौधों को घर के आंगन, बगीचे या घर के आसपास लगाना वर्जित माना जाता है.

मान्यता है कि इन्हें घर के आसपास या घर के परिसर में लगाने से मां लक्ष्मी रुष्ट होती हैं और ये पौधे हमारी तरक्की को रोकने की वजह बन जाते हैं. इनकी वजह से परिवार में क्लेश बढ़ता है और पैसों का संकट बढ़ जाता है. इन सब समस्याओं से बचने के लिए वास्तु के नियमों का पालन करना जरूरी है, वर्ना घर में नकारात्मकता आती है. जानिए किन पौधों को घर मेंं लगाने से परहेज करना चाहिए.

बबूल का पेड़

बबूल में बहुत सारे आयुर्वेदिक गुण पाए जाते हैं, लेकिन फिर भी इस पेड़ को न तो घर में लगाना चाहिए और न ही घर के आसपास. बबूल में बहुत सारे कांटे होते हैं. बबूल को हमेशा जंगल में ही होना चाहिए. वास्तु के मुताबिक बबूल ही नहीं बल्कि किसी भी तरह के कांटेदार पौधे को घर में नहीं लगाना चाहिए. ये पौधे आपकी तरक्की में बाधक बनते हैं और परिवार में गृहक्लेश की वजह बनते हैं. हालांकि गुलाब इस मामले में अपवाद है. उसे घर पर लगाया जा सकता है क्योंकि गुलाब का फूल मां लक्ष्मी को अति प्रिय है.

बेर का पेड़

बेर का पेड़ अगर आपके घर पर लगा है या घर के आसपास कहीं लगा है, तो इसे फौरन हटवा दें. वास्तु के मुताबिक इस पौधे पर बहुत सारी नकारात्मक शक्तियां वास करती हैं, जिनका प्रभाव घर पर भी पड़ता है. मान्यता है कि ये पेड़ हर शुभ काम में विघ्न पैदा करता है और आपके काम नहीं बनने देता. इसलिए तमाम लोग इसे विघ्नकारी पेड़ की संज्ञा भी देते हैं.

खजूर का पेड़

खजूर का पेड़ जहां भी होता है, उस स्थान की खूबसूरती को बढ़ा देता है. इसलिए तमाम लोग इस पौधे को अपने घर में लगा लेते हैं. लेकिन वास्तु के मुताबिक मान्यता है कि खजूर का पेड़ यदि घर में लगाया जाए तो पैसा पानी की तरह बहता है. इसकी वजह से आर्थिक रूप से व्यक्ति मजबूत नहीं हो पाता.

बोनसाई पौधे

जापानी भा​षा में बोनसाई का मतलब होता है बौने पौधे. ये पौधे लंबाई में बहु​त बड़े नहीं होते. इन्हें अक्सर लोग घर की सजावट के लिए लगाते हैं. लेकिन माना जाता है कि ये पौधे जिस घर में भी होते हैं, वहां लोगों की सफलता में रुकावट पैदा करते हैं क्योंकि इन्हें बढ़ने से पहले ही काट कर बोना कर दिया जाता है. इसकी वजह से ये नकारात्मकता से भरपूर होते हैं.

दिशाओं का भी रखें खयाल

घर में जब भी पौधे लगाएं तो दिशा का भी खयाल रखना चाहिए. घर के मुख्य द्वार के ठीक सामने कोई भी पेड़ या पौधा नहीं लगाएं.घर के ब्रह्मस्थान पर कोई पेड़-पौधा लगाने से बचें. इस स्थान को बिल्कुल साफ रखें. इसके अलावा घर की दीवार से सटाकर भी पौधे को नहीं लगाना चाहिए. ये पौधे घर की नींव को कमजोर बनाते हैं.

From around the web

>