पुखराज पहनने से पहले ध्यान रखे इन बातो का

 
रत्नों का राजा पुखराज रत्न को गुरू का रत्न कहा जाता है तो वहीं यह रत्नों का राजा भी माना जाता है। पुखराज के बारे में ऐसी मान्यता है कि यह रत्न यदि संबंधित जातक के अनुकूल हो जाए तो वह व्यक्ति हर तरह से संपन्न हो जाता है। हालांकि पुखराज रत्न को भी बगैर ज्योतिषीय सलाह से धारण नहीं करना चाहिए, अन्यथा अमंगल भी हो सकता है।

इसके अलावा पीले पुखराज के साथ किसी भी हालत में न तो हीरा ही धारण किया जाए और न ही नीलम पहनना चाहिए। पीले पुखराज के साथ ये दोनों रत्न अशुभ सिद्ध होते है, इसलिए यदि आपकों पीला पुखराज धारण करने की सलाह दी जाए तो इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखने की जरूरत है।

इसके साथ ही वृषभ लग्न वाले व्यक्ति भी पुखराज धारण न करें वहीं मिथुन लग्न वाले जातकों को भी पुखराज धारण नहीं करना चाहिए जबकि मकर और कुंभ लग्ल वाले जातकों को भी पुखराज पहनना शुभकर नहीं होता है।

From around the web

>