पूजा के दौरान भूलकर भी न करें ये गलतियां, नहीं तो हो जाएगें गरीब!

 
भगवान के प्रति लोगों की आस्था दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जिसके कारण मंदिर, घरों में भगवान का श्रृंगार, भोग, चढ़ावा आदि का बहुत अधिक ध्यान दिया जाता है। लेकिन कई बार हमसे पूजा करते समय ऐसी गलतियां हो जाती है। जो कि आपके लिए अशुभ साबित हो सकती है। जितनी जल्दी भगवान आपकी पूजा से प्रसन्न होते है। वहीं आपकी एक गलती उन्हें क्रोधित कर देती है। जिसके कारण आपके घर और आपके ऊपर से भगवान की कृपा हट जाती है। जो कि आपको गरीबी और हर काम में असफलता की ओर ले जाता है। इसलिए इन 4 गलतियों को भगवान की पूजा करते समय कभी न करें.......

तुलसी की सुखी पत्तियां -भगवान विष्णु और कृष्ण को तुलसी दल चढ़ाना बहुत ही शुभ होता है। इस प्रसाद के साथ चढ़ाना चाहिए। कई बार होता है कि आप ऐसे ही तुलसी चढ़ा देते है और उसे उठाना भूल जाते है। जिसके कारण वह सूख जाती है। जो कि बहुत ही अशुभ माना जाता है। इसलिए शाम होने से पहले या प्रसाद चढ़ाने के 2-3 घंटे बाद ही उसे उठा लें।

खंडित दीपक - पूजा के दौरान घी का दीपक जलाना बहुत ही शुभ माना जाता है। इसलिए नवरात्र में मां के सामने दीपक जरुर जलाएं, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि दीपर टूटा न हो। इससे आपकी पूजा खंडित हो जाएंगी। जिसके कारण आपको शुभ फल के बदले अशुभ फल और आपके ऊपर मां का प्रकोप पड़ सकता है।

सुखे फूल - कभी भी भगवान को सुखे या बासी फूल नहीं चढ़ाने चाहिए। कई बार होता है कि हम भगवान को फूल या हार चढ़ाते है, लेकिन उसको उतारना भूल जाते है। जो कि आपके लिए अशुभ साबित हो सकता है। इसलिए शाम होने से पहले फूलों-हार को भगवान से हटा लेना चाहिए।

खंडित मूर्तिया - कभी भी घर या मंदिर में खंडित मूर्ति नहीं रखना चाहिए। अगर घर में कोई खंडित या टूटी मूर्ति हो तो उसे तुरंत ही नदी में प्रवाहित कर दें। या फिर पीपल के नीचे जाकर रख दें।

From around the web