पर्यटक स्थलों पर एक बार फिर कोरोना की मार

 

एक बार फिर से कोरोना  की मार पड़ी है सभी पर्यटक स्थलों से पर्यटक गायब हो गए हैं होटल रेस्टोरेंट्स व्यवसाई, नौका चालक, घोड़े वाले, टैक्सी वाले, होटल गाइड सभी लोग मायूस है बमुश्किल पटरी पर लौटा कारोबार धड़ाम हो गया है।  पर्यटन कारोबार से जुड़े लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट गहरा गया है, सभी पर्यटक पर्यटन स्थल विरान हो गए हैं नैनीताल के आस पास वाले पर्यटक क्षेत्र खुरपाताल, पंगूट, भवाली, भीमताल, कैंची धाम, रामगढ़, मुक्तेश्वर क्षेत्रों के सभी होटल, गेस्ट हाउस होमस्टे खाली पड़े हैं या फिर उनकों बन्द कर दिया गया है।

उत्तराखंड में कोरोनावायरस का ग्राफ बहुत तेजी से बढ़ा है इसमें नैनीताल भी अछूता नहीं है आगे भी पर्यटन से जुड़े कार्यों के लिए कुछ खास संभावना नजर नहीं आ रही है मई के माह में पर्यटक सीजन चरम पर होता है नैनीताल में टूरिस्टों की संख्या बढ़ने लगती है जो जून समाप्ति तक लगातार जारी रहती है पर्यटन से जुड़े सभी कार्य जैसे ट्रेवल एजेंसियां, टैक्सी, होटल्स, इत्यादि सभी का कार्य लगभग समाप्त हो गया है।

From around the web

>