डाॅक्टर का अपहरण करने वाला इनामी बदमाश साथी समेत मुठभेड़ में ढेर

 

उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद के थाना जगनेर के कछपुरा क्षेत्र में पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. उमाकांत गुप्ता के अपहरण में शामिल कुख्यात एक लाख का इनामी बदमाश बदन सिंह और उसका एक साथी गोली लगने से बुरी तरह घायल हो गया। एसएन मेडिकल कॉलेज लाए जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया। बदन सिंह के साथी की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस उसकी शिनाख्त करने में जुटी है।

दरअसल बीते दिनों आगरा के वरिष्ठ चिकित्सक उमाकांत गुप्ता का नर्सिंग होम से लौटते वक्त अपहरण कर लिया गया था। जिन्हें पुलिस ने धौलपुर के चंबल बीहड़ से एक गांव से मुक्त कराया था। पुलिस ने इस मामले में एक युवती और एक युवक को गिरफ्तार किया था। अपहरण करने वाले गैंग बदन सिंह का बताया जा रहा था। पुलिस ने बदन सिंह पर एक लाख का नाम घोषित करते हुए उसकी तलाश में कई टीमों का गठन किया था। जानकारी के अनुसार थाना जगनेर क्षेत्र में पुलिस चेकिंग कर रही थी। तभी दो संदिग्ध व्यक्ति बाइक पर जाते दिखाई दिए।

पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया लेकिन दोनों कछपुरा के जंगल में छुप गए। थाना क्षेत्र में ही एसएसपी मुनिराज और एसपी पश्चिम राउंड पर थे। थाना पुलिस ने उन्हें इसकी जानकारी दी तो एसएसपी और एसपी पश्चिम के नेतृत्व में एसओजी और पुलिस की टीम ने सर्च अभियान शुरू कर दिया। इसी दौरान दोनों तरफ से गोलीबारी शुरू हो गई। कुख्यात बदमाश बदन सिंह और उसका साथी पुलिस की गोली का शिकार हो गए। पुलिस की गोलियों से घायल दोनों को एसएन मेडिकल कॉलेज लाया गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी गोली लगने से घायल हुए हैं। जिनका एसएन मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है।

From around the web