सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शुरू की विजय रथ यात्रा, खजांची ने दिखायी हरी झंडी

 

 समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को विधानसभा चुनाव 2022 के लिए चुनावी बिगुल कानपुर से फूंक दिया। जाजमऊ गंगा पुल से उन्होंने विजय रथ यात्रा की शुरुआत कर दी। नोटबंदी के समय कानपुर देहात में जन्मे खजांची नाथ ने यात्रा को पार्टी का झंडा दिखाकर रवाना कराया। इस मौके पर सपा मुखिया ने कहा कि कि जनता में भाजपा के लिए बहुत आक्रोश है। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने रथ पर सवार होने के बाद हाथ हिलाते हुए सभी का अभिनंदन किया तो कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान अखिलेश ने कहा कि कानपुर के बंद कारखाने, रोजगार के अवसर भी पैदा हों, युवाओं को रोजगार मिले। इसके लिए समाजवादी पार्टी काम करेगी। उन्होंने कहा कि कानपुर इसलिए भी प्रमुख है, क्योंकि बड़ा औद्योगिक शहर है। कानपुर में समाजवादियों ने बहुत विकास किया है।

उन्होंने कहा कि नेताजी ने भी एक समय इसी शहर से रथ यात्रा की शुरुआत की थी। उसी परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से कानून को कुचला जा रहा है, संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही है, उसके खिलाफ जनता में भाजपा के लिए बहुत आक्रोश है। सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा को हटाने के लिए यह रथ चल रही है। इस सरकार में सबसे ज्यादा महंगाई बढ़ी है। अखिलेश ने कहा कि किसानों को हक और नौजवानों को रोजगार दिलाने के लिए रथ चल रहा है। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार यदि दोबारा सत्ता में आती है तो किसानों की तरह संविधान को भी कुचल देंगे।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार दोपहर जाजमऊ गंगा पुल सीमा पर पहुंचे तो सपाइयों ने नारेबाजी करके स्वागत किया। कार्यकर्ताओं में सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष की एक झलक पाने की होड़ लगी रही। वहीं हाईवे पर भी जाम की स्थिति बन गई लेकिन पुलिस ने एक लेन से दोनों छोर के वाहनों को निकालना शुरू कराया है। सपा कार्यकर्ता विजय रथ के साथ सेल्फी लेते रहे। समर्थक हाथों में अखिलेश की तस्वीर, गुब्बारे और ढोल लेकर पहुंचे।

From around the web