माफिया डॉन मुख्तार को बचाने के लिए पंजाब सरकार दे रही स्पेशल ट्रीटमेंट : अलका राय

 

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब की कांग्रेस सरकार द्वारा दिए जा रहे स्पेशल ट्रीटमेंट का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पंजाब की रोपड़ जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को बुधवार के दिन मोहाली की कोर्ट में पेश किया गया। 

 इस दौरान मुख्तार को जिस एंबुलेंस से मोहाली कोर्ट ले जाया गया, वह उस एंबुलेंस का नंबर यूपी का था और एंबुलेंस निजी थी। जिसको लेकर गाजीपुर के मोहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक अलका राय पत्नी स्व. कृष्णानन्द राय ने पंजाब सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए ट्वीट किया है। 

 ट्वीट में मुख्तार को मोहाली कोर्ट लेकर जाने वाली एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन यूपी के बाराबंकी जिले में एक निजी अस्पताल के नाम से है। बीजेपी विधायक अलका राय ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘@RahulGandhi और @priyankagandhi जी की सरकार के माफिया डॉन मुख़्तार को बचाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। आज जिस तथाकथित एंबुलेंस में मुख़्तार अंसारी को कोर्ट में पेश किया गया वह तथाकथित एम्बुलेंस मुख़्तार अंसारी को किसने मुहैया करायी इसकी जांच होनी चाहिए।’ 

 आगे एक और ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि ‘यह एम्बुलेंस थी या माफ़िया डॉन की लग्ज़री गाड़ी, जांच इसकी भी होनी चाहिए। यूपी के रजिस्ट्रेशन नम्बर की यह गाड़ी किन हालातों में पंजाब पहुंची और माफ़िया डॉन कैसे इस गाड़ी पर घूम रहा है, यह भी एक बड़ा सवाल है।’ वहीं अब भाजपा विधायक के इस ट्वीट के बाद पंजाब सरकार में हड़कंप मच गया है। 

 गौरतलब हो कि मोहाली के एक बिल्डर से फिरौती मांगने के मामले में मुख्तार अंसारी की बुधवार को मोहाली कोर्ट में पेशी थी। इसके लिए उसे रोपड़ जेल से मोहाली कोर्ट जाना था। रोपड़ जेल से मोहाली कोर्ट तक मुख्तार को यूपी के नंबर की एक निजी एंबुलेंस से लाया गया। छानबीन करने पर पता चला कि वह एंबुलेंस यूपी में बाराबंकी के एक निजी अस्पताल के नाम पर रजिस्टर्ड है। जिस एंबुलेंस से मुख्तार को मोहाली कोर्ट में लाया गया उसका नंबर यूपी 41 एटी 7171 है।

 यूपी में एंबुलेंस सेवा प्रदान करने वाली कंपनी का कहना है कि मुख्तार अंसारी को मोहाली कोर्ट ले जाने वाली एंबुलेंस उत्तर प्रदेश के किसी भी सरकारी अस्पताल से नहीं जुड़ी है। अब इस मामले को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है। 

From around the web

>