साइबर क्राइम के लिए पुलिसकर्मियों को मिलेगा विशेष प्रशिक्षण

 

डीजीपी मुकुल गोयल ने प्रदेश के सभी पुलिस अधिकारियों को साइबर और महिला एवं बाल अपराधों का जल्दी अनावरण करने के निर्देश दिए हैं। इन  अपराधों का अनावरण करने के लिए पुलिसकर्मियों को विशेषतौर पर साइबर क्राइम से संबंधित विशेष प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

पुलिस महानिदेशक ने साइबर अपराध से पीड़ित व्यक्ति को सहायता, समुचित मार्गदर्शन प्रदान करने एवं साइबर क्राइम से सम्बन्धित अभियोगों का सफल अनावरण करने के लिए पुलिसकर्मियों को विशेष प्रशिक्षण की शुरुआत कराई थी। आगरा जोन में 3 अगस्त से इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत हुई थी। डीजीपी के निर्देशासुनसार अब प्रदेश के सभी जिलों में 15 से 30 सितंबर की अवधि तक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजना किया जाएगा।

प्रशिक्षण के शुरुआती कार्यक्रमों में सभी एडीजी, पुलिस आयुक्त, आईजी, डीआईजी एवं पुलिस अधीक्षक शामिल होंगे। प्रत्येक जिले से एक राजपत्रित अधिकारी नोडल अधिकारी के रूप में प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे।

जूम सेशन के जरिए प्रशिक्षण कार्यक्रम में 15 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया जाएगा। प्रशिक्षण सत्र में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में थानों पर नियुक्त समस्त कम्प्यूटर आपरेटर, महिला हेल्प डेस्क पर नियुक्त महिला आरक्षी, प्रत्येक थाने के चार दारोगा एवं चार आरक्षी के साथ-साथ रेंज साइबर थानों के समस्त कर्मियों की उपस्थिति जरूरी रहेगी।

प्रशिक्षण सत्रों के दौरान विभिन्न तिथियों में साइबर क्राइम से सम्बन्धित करीब एक दर्जन विषयों पर पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

From around the web