अंतिम अरदास को लेकर सुरक्षा और कड़ी चप्पे-चप्पे पर पीएसी और पैरामिलेट्री

 

 लखीमपुर-खीरी के तिकुनिया में होने वाली अंतिम अरदास व अस्थि कलश यात्रा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इसके लिए पर्याप्त पुलिस फोर्स लगाया गया है। साथ ही पीएसी, पैरामिलेट्री, आरएपफ व एसएसबी को भी शहर से लेकर तिकुनिया तक मुस्तैद किया गया है। ड्रोन कैमरों से निगरानी रहेगी। तिकुनिया कांड में मारे गए किसानों लवप्रीत सिंह निवासी पलिया, नछत्तर सिंह निवासी धौरहरा, दलजीत सिंह व गुरविंदर सिंह निवासी बहराइच के लिए अंतिम अरदास होनी है। इसके अलावा पत्रकार रमन कश्यप के लिए भी प्रार्थना सभा होगी। अंतिम अरदास का कार्यक्रम तिकुनिया में रखा गया है। जिसमें भारी संख्या में किसानों के जुटने की संभावना को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

पुलिस ने भी अपनी तैयारी की है। आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह और एडीजी जोन एसएन सावत भी जिले में कैंप कर रहे हैं। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था में पांच आईपीएस, पांच एएसपी और आठ सीओ लगाए गए हैं। इसके अलावा बड़ी संख्या में इंस्पेक्टर और दरोगाओं को भी लगाया गया है। सिपाही भी बड़ी संख्या में लगे हैं। इसके अलावा चार कंपनी पीएसी, दो कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स और दो कंपनी एसएसबी के जवानों को भी लगाया गया है। कार्यक्रम की निगरानी पुलिस ड्रोन कैमरों से होगी। शांतिपूर्ण तरीके से कार्यक्रम को निपटाया जा सके। इसके लिए एसपी विजय ढुल, एएसपी अरुण कुमार सिंह ने सोमवार को ही कार्यक्रम स्थल का मौका मुआयना किया। एएसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि कार्यक्रम में भीड़ को देखते हुए जगह जगह बैरियर लगाए गए हैं। जिन पर फोर्स तैनात होगा। कार्यक्रम स्थल के आसपास स्टैंड भी बनाए गए हैं। ताकि ट्रैफिक व्यवस्था भी दुरुस्त रखी जा सके

From around the web