मिर्जापुर: जीत से पहले मौत ने लगाया गले

 

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में पंचायत चुनाव में प्रधान पद के प्रत्याशी की जीत का परिणाम उनकी मृत्यु के बाद आया वहीं इसी पद के 12 से अधिक उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला लाटरी के माध्यम से हुआ।
लालगंज ब्लाक के निर्वाचन अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि गंगासायर गांव में मतगणना के बाद प्रधान पद के प्रत्याशी रामचन्द्र मौर्या को विजयी घोषित किया गया है जबकि उनकी मौत एक मई को हो चुकी थी।

उनकी ओर से मतगणना प्रतिनिधि आदि भी नहीं थे।

इस जीत के बाद परिजनों के दुख को और बढ़ा दिया है।

हलिया विकास खण्ड में अजीब स्थिति आ गयी जब मतगणना के दौरान उम्मीदवार की मौत हो गयी।

चुनाव में वह जीत गया।

हलिया के सगरा गांव से अवध लाल अग्रहरी (42) क्षेत्र पंचायत सदस्य के उम्मीदवार थे।

वे मतगणना स्थल पर मौजूद थे।

अचानक तबीयत खराब हो गयी।

उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जहाँ परिणाम आने से पहले ही मौत हो गई।

इस पंचायत चुनावों के दौरान छह गांव प्रधान उम्मीदवार कालकलवित हो गये हैं जहां अब दोबारा चुनाव कराया जा रहा है।

कई जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत प्रत्याशी भी इस संसार को छोड़कर चले गए मगर नियमों के अनुसार इस पद के चुनाव नहीं रोके गए।

दूसरी ओर जिले में एक दर्जन लोग अपने भाग्य के भरोसे प्रधान बने।

इनके के नाम की लाटरी निकली है।

From around the web

>