आज से यूपी में 10-40 रुपये महंगी हुई शराब

 

आज से उत्तर प्रदेश में शराब महंगी हो गई है. राज्य सरकार ने आबकारी नीति 2021-22 में संशोधन करते हुए शराब पर कोविड सेस लगाने का फैसला किया है. ये सेस आज से ही लागू हैं. यूपी सरकार ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर से लड़ाई के लिए राजस्व बढ़ाने के मकसद से ये सेस लगाया है.

कोविड सेस लगने के बाद शराब की कीमतें 10-40 रुपये तक बढ़ जाएंगी. आबकारी नीति 2021-22 में संशोधन करते हुए शासन ने रेगुलर कैटेगरी की शराब पर 10 रुपये प्रति 90 ml पर विशेष अतिरिक्त प्रतिफल शुल्क लगा दिया है.

इसी तरह प्रीमियम कैटेगरी की शराब पर भी प्रति 90 ml पर 10 रुपये, सुपर प्रीमियर पर प्रति 90 ml पर 20 रुपये, स्कॉच पर प्रति 90 ml पर 30 रुपये और इंपोर्टेड शराब पर भी प्रति 90 ml 40 रुपये अतिरिक्त प्रतिफल शुल्क लगाया गया है.

इस संबंध में सोमवार को शासनादेश जारी कर दिया गया.इसके पहले नए 1 अप्रैल से नए वित्त वर्ष की शुरुआत के साथ ही नया आबकारी सेशन भी शुरू हुआ था. जिससे शराब की कीमतें बढ़ गई थीं.

नए आबकारी सेशन में यूपी सरकार ने 1 अप्रैल से दूसरे देशों से आने वाली स्कॉच, वाइन, व्हिस्की, वोदका समेत बाकी सभी शराबों पर परमिट फीस को बढ़ा दिया था. आज से कोविड सेस लगने के बाद इनकी कीमतों में और इजाफा हो जाएगा.

यानी सिर्फ दो महीनों में ही शराब की कीमतों में जबरदस्त इजाफा हो चुका है. आपको बता दें कि 1 अप्रैल को लागू नई आबकारी नीति के बाद यूपी में अंग्रेजी शराब 15 से 20 परसेंट तक महंगी हुई थी. जबकि बीयर की कीमतों में 10 से 20 रुपये की कमी आई थी.

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसी को देखते हुए उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन को दो दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है. मंगलवार सुबह तक जो आंशिक कोरोना कर्फ्यू था उसे बढ़ाकर गुरुवार सुबह सात बजे तक कर दिया गया है. हालांकि इस दौरान पहले की तरह ही जरूरी सेवाओं की छूट रहेगी.

आपको बता दें कि रविवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 30983 नए मामले सामने आए और 290 लोगों की मौत भी हुई. राहत की बात रही कि इस दौरान 36,650 इस बीमारी से ठीक हो गए. यूपी में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 13,13,361 हो गई है जबकि मृतकों का आंकड़ा 13,162 पहुंच गया है.

From around the web

>