ताजमहल की शाही मस्जिद में अदा की गयी ईद की नमाज़

 

कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से लेकर आज पहली बार ताजमहल परिसर में ईद की नमाज अदा की गई। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण को लेकर देश में लगाए गए लॉकडाउन के चलते ताजमहल भी कई दिनों तक बंद रहा था। पिछले डेढ़ साल में जितने भी ईद के त्यौहार पड़े उस दौरान कोविड-19 नियमों के चलते ताजमहल के अंदर नमाज नहीं पढ़ी गई लेकिन अब लॉकडाउन हटने और पर्यटकों के लिए ताजमहल खोल देने के बाद शासन में ताजमहल के अंदर स्थित शाही मस्जिद पर 50 नमाजियों के नमाज पढ़ने की अनुमति दी।

ताजमहल के खुलने के बाद पहली बार ईद पर नमाजियों को प्रवेश दिया गया। ईद-उल-अजहा पर आज सुबह 8.30 बजे ताजमहल की शाही मस्जिद में नमाज अदा की गयी। नमाज के दौरान सभी ने पूरे देश में शांति और अमन चैन बने रहने के साथ पूरी दुनिया से कोरोना वायरस के खत्म होने की दुआ की। नमाज़ पढ़ने के बाद सभी ने एक दूसरे को ईद की बधाई दी।

ताजमहल मस्जिद इंतजामिया कमेटी के सैय्यद इब्राहीम जैदी और राष्ट्रीय स्मारक सुरक्षा समिति के मुनब्बर अली ने बताया की प्रशासन और एएसआई के सहयोग से दो साल बाद ताजमहल की शाही मस्जिद में नमाज अता हो सकी है। इसके लिए उन्होंने सभी को बधाई दी। आज कुल 50 लोगों ने मस्जिद में नमाज अदा की है। सभी लोगों के रजिस्टर में फोन नंबर और नाम दर्ज किए गए है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीक्षण पुरातत्वविद वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि सभी नमाजियों को ताजमहल के पूर्वी गेट से अलग मार्ग के जरिए प्रवेश दिए गए है। सभी नमाजियों का गेट पर ही नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज कराया गया है।

From around the web