पहले अब्बाजान कहने वाले हजम कर जाते थे गरीबों का राशन, अब सबको मिलता है मुफ्त: योगी 

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। पूर्व की सरकारों से अपनी सरकार की तुलना करते हुए योगी ने यह भी कहा कि 'अब्बाजान कहने वाले' पहले गरीबों का राशन डकार जाते थे, लेकिन अब सबको यह मुफ्त मिल रहा है। कुशीनगर में कई विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास करने पहुंचे सीएम योगी ने सपा-बसपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। योगी ने कहा ने कहा, ''आज हर गरीब को मुफ्त राशन मिल रहा है। 2017 के पहले अब्बाजान कहने वाले गरीबों का राशन हजम कर जाते थे। उनके चेलों में बंटकर यह राशन नेपाल व बांग्लादेश चला जाता था। आज कोई गरीबों का राशन निगलने की कोशिश करेगा तो निगल भले न सके लेकिन जेल जरूर चला जाएगा।'' उन्होंने कहा कि 2017 से पहले प्रदेश में शासन करने वाले लोग और शागिर्द माफिया गरीबों का राशन हजम कर जाते थे।   सीएम योगी रविवार को भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर जिले के कप्तानगंज और सेवरही में विकास परियोजनाओं के लिए आयोजित लोकार्पण-शिलान्यास कार्यक्रम में पहुंचे थे।

सीएम योगी ने इस दौरान कुशीनगर में भगवान वुद्ध के नाम पर जल्द ही मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास और शीघ्र ही कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शुभारंभ करने की घोषणा भी की। सीएम योगी ने कहा कि हर गरीब को शौचालय, आवास, राशन, पेंशन जैसी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव मिल रहा है। पहले लोग बिजली के लिए तरसते थे, अब जिले से लेकर गांव तक 16 से 24 घण्टे बिजली मिल रही है। कांग्रेस के शासन में, अब्बाजान कहने वालों के राज में और बहनजी की सत्ता में बिजली नहीं मिलती थी। उन्होंने बताया कि सरकार ने 5.51 लाख आवास एकसाथ दिए। पूर्व में आवास योजना का लाभ देने के लिए आयोजित वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में एक मुसहर महिला से हुए संवाद का जिक्र करते गए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2016 में एक मुसहर की भूख से हुई मौत पर उनका कुशीनगर आना हुआ था। पहले सपा-बसपा के लोग गरीबों का अन्न खा जाते थे।  2017 में उनकी सरकार बनने के बाद कुशीनगर ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में भूख के चलते एक भी मौत नहीं हुई है। 

मेरिट वालों की नौकरी पर अब्बाजान कहने वाले डालते थे डकैती 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्व की सरकार में अब्बाजान कहने वाले मेरिट वाले गरीबों की नौकरी पर डकैती डालते थे। नौकरी दिलाने के नाम पर खानदान झोला लेकर वसूली पर निकल जाता था। बीते साढ़े चार साल में हमारी सरकार ने 4.5 सरकारी नौकरी दी है। इनमें वह महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं जो अब्बाजान कहने वाले मजनुओं को ठीक से सबक सिखा रही हैं। 

हर जिले में अभ्युदय कोचिंग, अक्टूबर से एक करोड़ युवाओं को टैबलेट वितरण का शुभारंभ
सेवरही की जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ युवाओं के हित में बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में जुटे नौजवानों के लिए कुशीनगर समेत सभी जिलों में अभ्युदय कोचिंग शुरू की जाएगी। इन युवाओं को डिजिटल असेस के साथ टेबलेट भी दिया जाएगा ताकि वे ऑनलाइन किसी भी कोचिंग संस्था से जुड़कर अपनी पढ़ाई बेहतर कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके साथ ही 18 से 25 वर्ष के एक करोड़ युवाओं जो स्नातक, डिप्लोमा, डिग्री आदि में अध्ययनरत होंगे, के लिए अक्टूबर माह से टैबलेट वितरण का शुभारंभ होगा। 

From around the web