मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, भोर से ही गुलजार रहे गंगाघाट

 

 मकर संक्रांति महापर्व शुक्रवार और शनिवार को मनाया जाएगा। भगवान सूर्यदेव शुक्रवार की रात्रि 8.34 पर धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इसके बावजूद हजारों श्रद्धालुओं ने परम्परागत रूप से गंगा में आस्था की डुबकी लगा दान पुण्य किया। श्रद्धालुओं के चलते गंगाघाट सुबह से ही गुलजार रहे। भगवान सूर्य के उदय होते ही श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया। बच्चे और युवा सुबह से घर के छतों और सार्वजनिक स्थानों से पतंगबाजी में जुटे रहे। उधर, श्रद्धालुओं के सुविधा के लिए जिला प्रशासन ने दो दिन शुक्रवार और शनिवार को गंगा की ओर जाने वाले मार्गों पर यातायात प्रतिबंधित किया है। एडीसीपी ट्रैफिक डीके पुरी के अनुसार महापर्व पर श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो। इसके मद्देनजर सुगम एवं सुव्यवस्थित यातायात व्यवस्था के लिए शुक्रवार भोर से 16 जनवरी की सुबह तक जनपद वाराणसी में ट्रैफिक डायवर्जन प्लान लागू किया गया है।

मैदागिन से चौक होते हुए गोदौलिया की तरफ जाने वाले समस्त प्रकार के वाहनों को मैदागिन से आगे नहीं जाने दिया जाएगा। इन सभी वाहनों को हरिश्चन्द्र डिग्री कालेज होते हुए विश्वेश्वरगंज मोड़ से गोलगड्डा होते हुए भेजा जाएगा। इसी तरह लक्सा की तरफ से रामापुरा, गोदौलिया जाने वाले समस्त प्रकार के वाहनों को लक्सा थाने से आगे नही जाने दिया जाएगा। इन वाहनों को गुरुबाग से कमच्छा मार्ग पर मोड़ दिया जाएगा। थाना लक्सा से औरंगाबाद होकर बेनियाबाग जाने वाले मार्ग पर भी प्रतिबंध लागू रहेगा। उन्होंने बताया कि लहुराबीर से होकर गोदौलिया की तरफ जाने वाले समस्त प्रकार के वाहनों को बेनिया तिराहे से आगे नही जाने दिया जाएगा। इन वाहनों को पियरी मार्ग, कबीरचौरा अथवा लहुराबीर की ओर मोड़ दिया जाएगा। इसी क्रम में अस्सी, सोनारपुरा से होकर गोदौलिया जाने वाले समस्त प्रकार के वाहनों को सोनारपुरा से आगे नहीं जाने दिया जाएगा। इन वाहनों को थाना भेलूपुर मार्ग पर मोड़ दिया जाएगा। इसी प्रकार थाना भेलूपुर से रेवड़ी तालाब होकर रामापुरा जाने वाली समस्त प्रकार के वाहनों को तिलभांडेश्वर से आगे ले जाना प्रतिबंघित होगा। इन वाहनों को को लक्सा मार्ग की तरफ मोड़ दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि बेनियाबाग से आगे अत्यधिक भीड़ होने पर वाहनों को लहुराबीर चौराहे से ही रोक दिया जाएगा। इसके साथ ही वाहनों को क्वींस इंटर कॉलेज और सम्पूर्णानंद विश्वविद्यालय में खड़ा कराया जाएगा। भदऊं चुंगी से भैंसासुर घाट और राजघाट की तरफ किसी भी प्रकार के वाहन को जाने नहीं दिया जाएगा। इसी तरह गोलगड्डा तिराहे से कोई भी वाहन विश्वेश्वरगंज तिराहा होते हुए भैंसासुर घाट की तरफ नहीं जाने दिया जाएगा। सिगरा चौराहा से रथयात्रा होकर गुरुबाग की तरफ जाने वाले वाहनों को सिगरा चौराहा से ही दाएं मोड़कर आकाशवाणी, महमूरगंज, ककरमत्ता होते हुए बीएचयू की तरफ भेजा जाएगा। इसी प्रकार बीएचयू से शहर की तरफ आने वाले वाहन इसी मार्ग से वापस आएंगें। सिगरा चौराहा से ट्रामा सेंटर की तरफ जाने वाली एंबुलेंस व मरीज वाहनों को रथयात्रा, गुरुबाग तिराहा होकर जाने व वापस आने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि शव वाहन, एंबुलेंस एवं विकलांग व्यक्तियों को उक्त प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है।

वाहनों की पार्किंग के लिए व्यवस्था
प्रयागराज की तरफ से गंगा स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के वाहनों को अमरा-अखरी की तरफ मोड़ दिया जाएगा। जहां से वह डाफी होते हुए नरिया, मालवीय चौराहा होकर रवींद्रपुरी से कीनाराम मंदिर तक सड़क के किनारे दोनों तरफ वाहनों को खड़ा करेंगे। वहां से पैदल घाट की तरफ जाएंगे। प्रयागराज की तरफ से आने वाले श्रद्धालुओं के बड़े वाहनों को जगतपुर में अनंत हॉस्पिटल के सामने, रोहनिया थाने के सामने पुराना हनुमान मंदिर के पास खड़ा कराया जाएगा। इसी तरह बेनियाबाग में भीड़ का दबाव होने पर वाहनों को लहुराबीर पर रोक कर क्वींस इंटर कालेज और संपूर्णानंद विश्वविद्यालय में खड़ा कराया जाएगा। चांदपुर चौराहा से मंडुवाडीह की तरफ स्थित इंडस्ट्रियल एरिया, लहरतारा कैंसर अस्पताल के बगल में स्थित स्टेडियम और इंग्लिशिया लाइन के पास खड़े कराए जाएंगें। चंदौली पड़ाव की तरफ से आने वाले श्रद्धालुओं के वाहनों को बालूमंडी राजघाट पर खड़ा कराया जाएगा। आजमगढ़, गाजीपुर, जौनपुर की तरफ से आने वाले वाहनों के लिए संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर और अत्यधिक वाहन होने पर कटिंग मेमोरियल स्कूल नदेसर के मैदान में पार्किग स्थल मे खड़ा कराया जाएगा।

From around the web