रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लालजी टंडन की प्रतिमा का किया अनावरण, बोले-धोती कुर्ता पहने जिंदादिल इंसान थे

 

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन की पहली पुण्यतिथि पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित मल्टीलेवल पार्किंग में बनी उनकी प्रतिमा का अनावरण किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एक पंक्ति में अगर उनके व्यक्तित्व के बारे में कहा जाये तो धोती कुर्ता पहने एक जिंदादिल इंसान, जिसकी चेहरे पर बराबर हो मुस्कान, यही है हमारे टण्डनजी की पहचान। उन्होंने कहा कि जब वह सांसद थे और मैं सांसद था, तो अक्सर मुझे मिलने पर कहते थे लखनऊ आना तो हमारे यहां चाट खाने जरुर आना। लखनऊ के बारे में जितनी जानकारी उनके पास थी, उसे वह बताया करते थे। लखनऊ की संस्कृति व संस्कार के अनुसार अपनी जिंदगी जीने वाले दो लोग थे, इसमें पहले टण्डन और दूसरे योगेश प्रवीण थे। मैं जानता हूं कि उत्तर प्रदेश में सत्ता के गलियारे में भाजपा को स्थापित करने में लालजी टण्डन ने योगदान किया।

इससे पहले प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लालजी टण्डन के प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये उनकी भव्य प्रतिमा के अनावरण यहां सम्पन्न हुआ है। इसके लिये नगर निगम बोर्ड, महापौर को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि जब लालजी टण्डन की बात होती है तो पार्षद से लेकर दोनों सदनों में नेता व नेता प्रतिपक्ष के रुप दिया। सार्वजनिक जीवन में 60 वर्ष उन्होंने व्यतीत किये। हर तबके में उनके प्रसंसक थे। लखनऊ वाले सम्मान में लाजजी टण्डन को बाबूजी कहते हैं। उनका सभी के साथ व्यवहार आत्मीयता वाला था। उनके पुत्र आशुतोष टण्डन बाबूजी के कार्यों को याद करते हुये इस क्रम को आगे बढ़ा रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि बाबूजी के मूर्ति का अनावरण होगा, यह अविश्वसनीय सा है। बाबूजी के पास हर समस्या का समाधान मिलता था। चलती फिरती विरासत थे बाबूजी, हर धर्म के व्यक्ति में लोकप्रिय थे। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बाबूजी को लखनऊ का बनाकर न रखे, वह पूरे प्रदेश के रहे। लखनऊ वाले उन्हें दिल से मानते है तो प्रदेश वाले भी उन्हें दिल से मानते है।

From around the web