सीएम योगी बोले-अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी को पूरा किया जाए

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डेंगू एवं अन्य वायरल बीमारियों की रोकथाम के लिए ठोस प्रयास करने की जरूरत है। फिरोजाबाद में स्वास्थ्य विभाग की ओर से 10 चिकित्सकों की तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से पांच विशेषज्ञों की एक नई टीम तत्काल भेजी जाए। यह टीम अगले एक सप्ताह तक वहां कैंप करेगी। अस्पतालों में उपचाराधीन मरीजों की मॉनिटरिंग करें। नगर विकास विभाग द्वारा अतिरिक्त कर्मियों की तैनाती कर स्वच्छता, फॉगिंग आदि कार्य को और तेज किया जाए। उन्होंने यह निर्देष दिये कि अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी हो तो पूरी की जाए।

मुख्यमंत्री ने बुधवार को टीम-09 की बैठक में कोविड-19 की समीक्षा करने के साथ ही अन्य विभागों को भी महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश के सभी अस्पतालों को साधन-सुविधा संपन्न बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा सभी जरूरी प्रयास किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री के स्तर से स्वास्थ्य विभाग के सभी अस्पतालों में चिकित्सकों की रिक्तियों समीक्षा की जाए। जहां भी जरूरत हो, विभाग द्वारा तत्काल विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू, मलेरिया व अन्य वायरल बीमारियों के संदिग्ध मरीजों की पहचान के लिए जारी प्रदेशव्यापी सर्विलांस कार्यक्रम को और प्रभावी बनाया जाए। सर्दी, जुकाम, बुखार, श्वांस समस्या आदि संबंधित चिन्हित लोगों के समुचित उपचार की व्यवस्था कराई जाए। आवश्यकतानुसार जांच भी कराई जाए। डोर-टू-डोर सर्वेक्षण के दौरान बुखार, दस्त, डायरिया आदि की जरूरी दवाइयां वितरित की जाएं। विशेषज्ञ टीम के दिशा-निर्देशों के अनुरूप उपचार की समुचित व्यवस्था रहे। बेड, दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक जनपद-एक मेडिकल कॉलेज के संकल्पपूर्ति के क्रम में एक ओर जहां नौ जिलों में मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण होने जा रहा है, वहीं 14 जिलों में मेडिकल कॉलेज की स्थापना की भी तैयारी है। आगामी सप्ताह इन 14 मेडिकल कॉलेजों का शिलान्यास किए जाने के संबंध में सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली जाएं।

From around the web