आदिवासी इलाकों में तेजी से पैरा पसार रहा धर्मांतरण का खेल, वायरल हुआ वीडियो, दो गिरफ्तार

 

खरगोन जिले में ईसाई मिशनरियों द्वारा आदिवासी इलाकों में जाकर लोगों को धर्मांतरण का लालच दिया जा रहा है। ईसाई मिशनरी आदिवासी को धर्म परिवर्तन के लिए जिले के कई क्षेत्रों में नियमित रूप से कार्य कर रहे हैं। इसके चलते स्थानीय आदिवासियों और धर्मांतरित ईसाइयों के बीच संघर्ष की स्थिति से इनकार नहीं किया जा सकता है।

बता दें कि हाल ही में जिले की सेगांवा तहसील के ग्राम रसगांव (मालपुरा) में वहाँ पर कई लोगों को एक साथ खुले आम आदिवासीयों से ईसाई धर्म में शामिल कराया गया जिसका एक सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ। इस घटनाक्रम का शिकायत पत्र संसद गजेन्द्र सिंह पटेल ने पुलिस अधीक्षक खरगोन को लिखा जिसमें धर्मांतरण कराने वालो पर दंडात्मक कार्यवाही की जाये ओर मेरे संसदीय क्षेत्र में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।

थाना ऊन पर रूखडिया निवासी ग्राम रसगांव मालपुरा पर शिकायत आवेदन दिया जिसमें आवेदक द्वारा बताया गया कि 3 नवंबर 21 को करीब 10.00 बजे की बात है, मेरे गांव के रहने वाले विजय पुत्र ख्यालीराम बडोले, उसकी बुआ मंजुला पिता विश्राम बडोले व इसाई मिशनरी के मारसन लाय निवासी ईटाहनगर अरुणाचल प्रदेश विजय के घर के सामने लोगो को इसाई धर्म अपनाने के लिए उनका धर्मान्तरण करवा रहे थे । रुखडीया व उसके चचेरे भाई रेवाराम बडोने निवासी रसगांव मालपुरा विजय के घर के सामने पहुचे तो उक्त लोगों द्वारा हमे भी और हमारे बच्चों की पढ़ाई आदि मुफ्त करवाने के लालच देकर ईसाई धर्म अपनाने को कहा गया । ऐसा कहकर वह हमारे उपर पानी छिड़कने लगे और हमें क्रास पहनाने लगे । हमने उन्हे ऐसा करने से मना कर दिया था ।

उक्त शिकायत धर्मांतरण से संबंधित होने से पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने बताया की थाना ऊन पर अपराध क्र 430/21 धारा – 3,5 म.प्र. धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 का पंजीबद्ध किया जाकर तत्काल कार्यवाही करते हुए पुलिस टीम द्वारा 02 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है व मुख्य आरोपी की गिरफ़्तारी के लिए हर सार्थक प्रयास किए जा रहे है । पुलिस ने विजय पुत्र ख्यालीराम बडोले जाति भीलाला निवासी रसगांव मालपुरा और मंजुला पुत्र विश्राम बडोले जाति भीलाला निवासी रसगांव मालपुरा को गिरफ्तार कर लिया व मारसन लाय निवासी इटाहनगर अरुणाचल प्रदेश अभी फरार है।

From around the web