गुरु पूर्णिमा पर खंडवा जिले की सीमाएं आज रात से सील; 21 से 23 जुलाई तक बंद रहेगा मंदिर

 

खंडवा शहर में गुरुपूर्णिमा उत्सव के लिए श्री दादाजी दरबार सज गया है। दादाजी दरबार में 21 से 23 जुलाई तक उत्सव मनाया जाएगा। हालांकि इस दौरान मंदिर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। इसके अलावा बाहरी जिलों की भीड़ को रोकने मंगलवार रात से जिले की सीमाएं सील कर दी जाएगी। इधर, 70 साल से गांव पांढुर्णा से निकल रही रथ यात्रा आज दादा दरबार पहुंचकर निशान चढ़ाएगी।

गुरु पूर्णिमा के पहले 21 जुलाई से जिले की सीमाएं सील कर दी जाएंगी। इस संबंध में खंडवा कलेक्टर अनय द्विवेदी ने आदेश जारी किए हैं। बाहरी व्यक्ति को जिले में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए गुरु पूर्णिमा के अलावा सावन में कावड़ यात्रा और भंडारे प्रतिबंधित रहेंगे।

पांढुर्णा स्थित दादा धुनीवाले मंदिर से निकले रथ का आज नगर प्रवेश

ग्राम कलमगांव (पांढुर्णा) से निकला धुनीवाले दादाजी का रथ एक महीने में 350 किमी का सफर तय कर मंगलवार को खंडवा पहुंचेगा। रथ ग्राम कलमगांव में स्थित धूनीवाले दादाजी मंदिर से 25 जून को निकला है। रथ यात्रा में 17 भक्त शामिल है। रथ यात्रा 70 साल से निकल रही है। कोरोना महामारी के चलते रथ यात्रा में शामिल भक्तों की संख्या को कम कर दिया है। दादाजी धूनीवाले के दरबार में निशान चढ़ाया जाएगा।

From around the web

>