राजपथ पर छत्तीसगढ़ की गोधन न्याय योजना के साथ बस्तरिहा नृत्य करते नजर आएगा रिखी व उनका समू

 

गणतंत्र दिवस पर फिर एक बार देश इस्पात नगरी के प्रख्यात लोक वाद्य संग्राहक कलाकार रिखी क्षत्रिय की कलाकारी का नमूना देखेगा। 26 जनवरी को राजपथ नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ राज्य की झांकी गोधन न्याय योजना का चयन किया गया है। इस झांकी के साथ प्रस्तुति के लिए लोक नृत्य दल रिखी क्षत्रिय के नेतृत्व में मंगलवार को दुर्ग से दिल्ली के लिए रवाना हुआ है।

इस दल में रिखी के साथ बालोद जिले के कुलदीप सार्वा, केंवरा सिन्हा, जया ठाकुर, प्रदीप ठाकुर, दुर्ग जिले से संजीव,साधना,नेहा, नारायणपुर से जैनू राम,जैतू,सुमित्रा, गसनी,जगोती व सुनीता है। वहीं छत्तीसगढ़ शासन जनसंपर्क विभाग से दल प्रमुख तेज सिंह भुवाल हैं।

इस बार रिखी क्षत्रिय के निर्देशन में 14 लोक कलाकारों का दल राजपथ में छत्तीसगढ़ की झांकी गोधन न्याय योजना के साथ बस्तर के पारंपरिक लोक नृत्य काकसाड़ प्रस्तुत करते नजर आऐंगे एवं झांकी के ऊपर में दो महिला कलाकार गोबर से दीया व खिलौने आदि बनाते नजर आएंगे। उल्लेखनीय है कि रिखी क्षत्रिय एवं उनके समूह को इस वर्ष 8 वीं बार राजपथ में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करने का सौभाग्य मिला है।

From around the web