मायानगरी पहुंचा ‘मुंबई छा राजा’, देखें कोरोना के साये में कहां कैसी हुई पूजा

 

आज गणेश चतुर्थी है और आज से 11 दिन तक गणेश उत्सव मनाया जाएगा. खासकर महाराष्ट्र में मुंबई छा राजा पधार गए हैं. हालांकि देश भर में गणेश उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है.  महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में गणेश उत्सव की अलग ही धूम होती है. कोरोना के साए में इस बार गणपति महोत्सव काफी सतर्कता से मनाया जा रहा है. मुंबई में पंडाल तो बनाए गए हैं लेकिन आप लोगों को इसमें दर्शन की अनुमति नहीं दी गई है. मुंबई के कई इलाकों में धारा 144 लागू है इसके साथ ही जुलूस निकालने पर भी रोक लगा दी गई है. ऐसे में मुंबईकर के लिए गणेश उत्सव उत्साह तो लेकर आया है लेकिन कोरोना के साए में सतर्क रहने की भी आवश्यकता है.

मंदिर बंद फिर भी उमड़े श्रद्धालु

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने ज्यादातर मंदिरों में ताले लगा दिए हैं. सरकार और प्रशासन को डर है कि मंदिर में पूजा अर्चना के दौरान कोरोना के फैलने का ज्यादा खतरा है. इसके बाद भी श्रद्धालु मंदिरों में सामने खड़े नजर आए. खासकर मुंबई के गणेश मंदिर के सामने श्रद्धालुओं की बड़ी भीड़ देखी गई. हालांकि मंदिर में ताला बंद होने के कारण उन्हें निराश लौटना पड़ा. कुछ मंदिरों में श्रद्धालुओं के लिए बाहर स्क्रीन की व्यवस्था की गई जहां श्रद्धालुओं ने दर्शन किए.

16 दिनों में दोगुने हो गए केस

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर कोहराम मचाया था. तीसरी लहर की खबरों के बीच एक बार फिर से मुंबई से डराने वाली सूचना आ रही है. बताया गया है कि महज 16 दिनों के अंदर में यहां कोरोना के मामले दोगुने से ज्यादा हो गए हैं. महाराष्ट्र सरकार इन मामलों को लेकर गंभीर है और हल्के लक्षण वालों को घर पर ही आइसोलेशन में रखा गया है. इन हालातों में सरकार और प्रशासन की ओर से लगातार लोगों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की जा रही है.


 

From around the web