राजधानी में प्रेम प्रसंग के चलते युवक की हत्या, शव पर मिले चोट के निशान

 

पारा थाना क्षेत्र में बीते बुधवार को गायब हुए डॉ शंकुतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय के छात्र रजनीश यादव का शव मिला है। शव पर चोट के निशान होने के कारण पारा पुसिल ने इस मामले में मृतक की प्रेमिका व तीन अन्य साथियों के खिलाफ हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार पारा थाना क्षेत्र के सलेमपुर पतौरा गांव निवासी राजेंद्र् प्रताप यादव का पुत्र रजनीश यादव 24 वर्षीय शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय में पढ़ाई करता था। बुधवार की दोपहर घर से निकला था और वापस नहीं आया तो रजनीश के भाई मनीष यादव ने गुरुवार की सुबह पारा थाने पहुंच कर अपने भाई की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज करने के बाद पारा पुलिस ने जब सलेमपुर पतौरा के रहने वाले प्रवेश यादव के घर पहुंच कर छानबीन की तो पता चला कि रजनीश यादव की लाश उसकी हत्या करने के बाद घर के सेफ्टी टैंक में उल्टा लटका दी गई थी।

पुलिस ने टैंक से रजनीश का शव बाहर निकलवाया तो उसका एक कान भी कटा हुआ था। मृतक रजनीश यादव के भाई मनीष यादव ने प्रवेश यादव, सुनील यादव, प्रवीण यादव और नैना को नामजद करते हुए पारा थाने में तहरीर दी है। मृतक के भाई के अनुसार रजनीश का प्रवेश की बेटी के साथ प्रेम प्रसंग था और इन लोगों के द्वारा ही उसके भाई की हत्या कर उसकी लाश को घर के सेफ्टी टैंक में फेंक दिया। सेफ्टी टैंक से जब लाश निकाली गई तो रजनीश का शव क्षत-विक्षत अवस्था में पाया गया।

पुलिस ने मौका ए वारदात पर मिले सबूतों को अपने कब्जे में लेने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसीपी काकोरी ने सिर्फ इतना ही बताया कि कल से लापता रजनीश यादव का शव गांव के बाहर प्रवेश यादव के घर के सेफ्टी टैंक से बरामद हुआ है। अभी यह पता नहीं चल सका है कि पुलिस ने इस प्रकरण में किसी को हिरासत में लिया है या नहीं। बताया जा रहा है कि मृतक के प्रेम प्रसंग के चलते दोनों परिवारों के बीच काफी दिनों से रंजिश चल रही थी जिसके चलते ही रजनीश यादव की हत्या की गई है।

From around the web