गणपति का विराजमान 51 किलो लड्डू के साथ

 

राजधानी के बीरबल साहनी मार्ग स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर परिसर में गणेश चतुर्थी पर गणपति का दस दिवसीय उत्सव प्रारंम्भ किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत दिन में पंडित दिनेश दीक्षित, पंडित दिनेश मिश्र, आचार्य पवन मिश्र ने पारंपरिक रूप से पूजन-हवन के साथ गौरी पुत्र का श्रृंगार कर कार्यक्रम की शुरूआत की।

इस दौरान विघ्न विनाशक से प्रार्थना कर कोरोना जैसी महामारी से मुक्ति के लिए पूजा कर गणपति का आव्हान किया। कार्यक्रम के प्रबंधक आर के शर्मा ने बताया कि गणेश जी के उत्सव के दौरान प्रतिदिन गणपति का नए वस्त्र से श्रृंगार किया जाएगा।

साथ ही भक्तों की भक्ति के अनुसार गणेश जी को प्रतिदिन भोग के रुप में अनेकानेक भोग जो कम से कम 21 किलो का होगा वो लगाया जाएगा। जिसमें आज शुरुआती कार्यक्रम में भक्तों की ओर से 51 किलो के लड्डू का भोग गणपति को अर्पित किया गया है। जो रात्रिकालीन आरती के उपरांत भक्तों को वितरित भी किया जाएगा।

From around the web