प्रदेश के शिल्प को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बाजार मुहैया कराने के प्रयास तेज करें – मंत्री भार्गव

 

लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि प्रदेश के शिल्प को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बाजार मुहैया कराने के प्रयास लगातार जारी रखे जायें। साथ ही शिल्पियों को आवश्यक प्रशिक्षण के साथ मार्केटिंग प्रणाली से भी अवगत करवाया जाए। मंत्री भार्गव ने यह निर्देश म.प्र. सिल्क फेडरेशन की 33वीं संचालक मंडल की बैठक में दिए।

मंत्री भार्गव ने कहा कि वर्तमान समय में मध्यप्रदेश की बाग प्रिंट की साड़ियाँ, साँची स्तूप एवं खजुराहो के मंदिरों की कलाकृति युक्त कपड़े विशेष पहचान बना रहे हैं। इनके उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ शिल्पियों को प्रशिक्षण आयोजित किए जाए। बैठक में मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल, छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आयोजित खादी एक्सपो की उपलब्धियों से अवगत कराया गया।

कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग "आत्म-निर्भर भारत आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश'' की संकल्पना के तहत स्व-रोजगार के मंत्र पर विशेष महत्व दे रहा है। कोरोना काल में सैनिटाइजर और मास्क का प्रचलन बढ़ा है, इसलिए इनके निर्माण पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती स्मिता भारद्वाज, हाथकरघा एवं हस्तशिल्प आयुक्त श्रीमती सुरभि गुप्ता, खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की प्रबंध संचालक श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव सहित संचालक मंडल के सदस्य उपस्थित रहे।

From around the web