रायपुर-दुर्ग में कम हुआ तो बिलासपुर संभाग में बढ़ा संक्रमण

 

एक सप्ताह तक लगातार स्थिर दिखने के बाद छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण ने फिर से रफ्तार पकड़ी है। मंगलवार को प्रदेश में 15785 नए मामले सामने आए। वहीं 210 लोगों की मौत हुई है। चिंताजनक बात यह है कि प्रदेश में कोरोना के नए हॉट स्पाट उभर रहे हैं। बिलासपुर संभाग में जहां संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। वहीं बस्तर में आंध्र प्रदेश में फैले कोरोना के स्ट्रेन का खतरा बढ़ गया है।

बिलासपुर संभाग के 4 जिलों रायगढ़, कोरबा, जांजगीर-चांपा और बिलासपुर में मरीजों की संख्या एक हजार से अधिक रही है। इस बीच आंध्र प्रदेश में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर बस्तर बार्डर पर अलर्ट कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि यह स्ट्रेन 15 गुना अधिक संक्रामक है। संक्रमण के 4 से 5 दिनों के भीतर यह सांसों की गंभीर समस्या पैदा कर रहा है।

बस्तर संभाग के जिले आंध्र और तेलंगाना बार्डर से जुड़े, बिना जांच एंट्री पर रोक

बस्तर संभाग के सीमावर्ती जिले आंध्र और तेलंगाना से लगे हुए हैं। आदिवासी क्षेत्रों के बीच आवाजाही भी है। ऐसे में सरकार ने बस्तर संभाग के जिलों को सीमाओं पर जांच में सख्ती लाने का निर्देश दिया है। साथ ही कहा है कि हर वाहन की निगरानी की जाए। कोई भी बिना जांच और दस्तावेज के प्रदेश की सीमा में प्रवेश न कर सके। आने वाले लोगों की जांच और मरीजों की व्यवस्था की जाए।

रायपुर और दुर्ग में राहत, मरीजों की संख्या कम हुई

दूसरी ओर राहत की बात यह है कि अप्रैल महीने की शुरुआत में जिस रायपुर और दुर्ग जिले में एक दिन में औसतन 2 हजार से अधिक मरीज मिल रहे थे, वहां अब यह संख्या एक हजार या उससे कम हो गई है।रायपुर में मंगलवार को 1008 नए मरीज मिले। वहीं दुर्ग में संक्रमितों की संख्या 899 रही।

प्रदेश में एक्टिव केस बढ़कर 1.24 लाख हुए

मंगलवार को 11 हजार 308 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। यह संख्या नए संक्रमितों की संख्या से काफी अधिक है। इसकी वजह से प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1 लाख 24 हजार 459 हो गई है। सोमवार तक एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 20 हजार 977 थी। पिछले सप्ताह यह 1 लाख 17 हजार तक पहुंच गई थी। अब फिर मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है।

रायपुर मेडिकल कॉलेज में वर्चुअल OPD की तैयारी पूरी कर ली गई। यह अस्पताल कोरोना के इलाज का भी सबसे बड़ा केंद्र है।
आम्बेडकर अस्पताल में अब वर्चुअल OPD सेवा

लोगों को घर बैठे स्वास्थ्य संबंधी परामर्श देने के लिए रायपुर डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति अस्पताल में आज से वर्चुअल टेली OPD सेवा शुरू हो रही है। यह सेवा अस्पताल के टेली कंसल्टेंशन सेंटर के माध्यम से चलेगी। इसके जरिए सुदूरवर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोग स्मार्टफोन फोन व इंटरनेट के जरिए घर बैठे ही विशेषज्ञ चिकित्सकों से स्वास्थ्य संबंधी सलाह ले सकेंगे। वर्चुअल टेली OPD सेवा का संचालन शासकीय अवकाश को छोड़कर प्रतिदिन किया जाएगा। इसका लाभ इस लिंक के जरिए लिया जा सकेगा।

Virtual OPD

Join Zoom Meetinghttps://zoom.us/j/94714208087?pwd=VXdZT2VBQ2xzR0tWdW0rL05lS3NwQT09

Meeting ID: 947 1420 8087 Passcode: 123456

इमरजेंसी सेवाओं में सर्टिफिकेट कोर्स कराएंगे मेडिकल कॉलेज

कोरोना संकट में सरकार को आपातकालीन और क्रिटिकल केयर सेवाओं में प्रशिक्षित लोगों का महत्व समझ में आ गया है। सरकार ने अब मेडिकल कॉलेजों में इनके प्रशिक्षण की तैयारी की है। तय हुआ है कि प्रदेश के 6 राजकीय मेडिकल कॉलेज इमरजेंसी केयर टेक्निशियन का एक वर्षीय सर्टिफिकेट कोर्स चलाएंगे। इसमें प्रवेश के लिए भौतिकी, रसायन और जीव विज्ञान के साथ 12वीं पास होना जरूरी होगा। इस पाठ्यक्रम में एक्सरे, पैथोलॉजी, पैरामेडिक आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

From around the web

>