उपभोक्ताओं के लिए स्वास्थ्य शिविर के साथ शिकायत निवारण शिविर लगेंगे

 

जल्द ही मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी उपभोक्ताओं के लिए निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगायेगी। साथ ही उपभोक्ताओं की विद्युत संबंधी शिकायतों के निराकरण के लिए शिकायत निवारण शिविर भी आयोजित करेगी। इन शिविरों में क्षेत्रीय विधायकों, जनप्रतिनिधियों एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को आमंत्रित किया जाएगा। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने यह जानकारी मैदानी अधिकारियों की बैठक में दी। प्रबंध संचालक ने कहा कि इस वर्ष दीपावली पर ट्रिपिंग रहित विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के माकूल प्रबंध किये गये हैं। उपकेन्द्रों एवं लाइनों का रखरखाव तेजी से किया जा रहा है और यह कोशिश की जा रही है कि दीप पर्व पर जगमग दीपावली के लिए हरसंभव व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने मैदानी स्तर पर महाप्रबंधक सहित एसटीएम एवं एसटीसी को निर्देश दिए कि तालमेल बिठाकर उपकेन्द्रों, 33 केव्ही लाईनों, 11 केव्ही लाइनों के मैंटेनेंस पर विशेष ध्यान दें। रबी सीजन के लोड़ आने के पहले पात्रता वाले सभी खराब तथा जले हुए ट्रांसफार्मर एक सप्ताह में बदल दें तथा उपकेन्द्रों का निरीक्षण कर यह सुनिश्चित करें कि केपेसिटर बैंक क्रियाशील हैं।

प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने मैदानी अमले से कहा कि सभी खराब तथा जले ट्रांसफार्मर एरिया स्टोर में तत्काल भिजवाएँ। उन्होंने कहा कि जहाँ बार-बार वितरण ट्रांसफार्मर फेल होते हैं ऐसे स्थानों को चिन्हित कर विश्लेषण करें तथा तकनीकी खामियों को दूर किया जाए। आवश्यकता होने पर लोड के अनुसार ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाई जाए। खराब तथा जले मीटरों को बदला जाए तथा बिजली बिल का नियमित भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं को विशेष सुविधा दी जाए।

प्रबंध संचालक ने बकायादार उपभोक्ताओं से अपील की वे कनेक्शन कटने की अप्रिय कार्यवाही से बचें और देय तिथि से पहले बिजली बिल जमा करें। नॉन पेयी उपभोक्ताओं को बिजली बिल का भुगतान करने के लिए प्रेरित किया जाए तथा उन्हें कनेक्शन विच्छेदन की कार्यवाही से बचने के लिए अवगत करायें। सभी औपचारिकताएं पूर्ण करने वाले नये बिजली कनेक्शन के आवेदनों पर समय-सीमा में कार्यवाही करें। उन्होंने सचेत किया कि मीटर रीडिंग, बिल वितरण और राजस्व संग्रहण पर विशेष ध्यान दें। श्री मिश्रा ने कहा कि मीटर वाचन की त्रुटि के कारण ही बिल में त्रुटियाँ आती हैं इसलिए मीटर वाचकों पर नजर रखें। इस दौरान प्रबंध संचालक ने सभी अधिकारियों को कहा कि सकल वाणिज्यिक एवं तकनीकी हानियों को कम करने के लिए विद्युत के उपयोग के प्रत्येक यूनिट की गणना की जाए। कृषि हेतु अस्थायी कनेक्शन आसानी से उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए गए और कहा गया कि अस्थायी कनेक्शन में अग्रिम राशि कंपनी में इस प्रकार जमा कराई जाए ताकि अस्थायी कनेक्शन कटने पर बकाया राशि ना बचे।

From around the web