AAP के बागियों और अमरिंदर के करीबियों पर कांग्रेस ने जताया भरोसा, विरोध के बावजूद इन्हें दिया टिकट

 

पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने 86 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। पार्टी हाईकमान ने आम आदमी पार्टी से बागी होकर आए दो विधायकों तथा साढे़ चार साल तक अमरिंदर के करीब रहे नेताओं पर भरोसा जताकर उन्हें फिर से चुनाव मैदान में उतार दिया है। पंजाब कांग्रेस द्वारा जारी 86 उम्मीदवारों की पहली सूची में 4 मौजूदा विधायकों की टिकट काट दिया है। पहली लिस्ट में ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिद्धू, सीएम चरणजीत चन्नी, सांसद प्रताप बाजवा, पूर्व सीएम राजिंदर कौर भट्ठल समेत सभी मंत्रियों के नाम हैं।

टिकट बंटवारे में कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू अपने करीबियों को टिकट दिलवाने में कामयाब रहे हैं। सिद्धू ने सुल्तानपुर लोधी से मंत्री राणा गुरजीत के विरोधी नवतेज चीमा, बस्सी पठाना से मुख्यमंत्री चन्नी के भाई की जगह गुरप्रीत जीपी, रायकोट से आप छोडक़र कांग्रेस में शामिल हुए विधायक जगतार जग्गा की जगह कामिल अमर सिंह और बठिंडा ग्रामीण से वित्तमंत्री मनप्रीत बादल के विरोधी हरविंदर लाडी को टिकट दिलवाया है।

कांग्रेस ने मोगा सीट से विधायक हरजोत कमल का टिकट काटकर बॉलीवुड स्टार सोनू सूद की बहन मालविका सूद को टिकट दिया है। इसी तरह कांग्रेस ने मानसा में तमाम अवरोधों के बावजूद पंजाब के विवादित लोक गायब सिद्धू मूसेवाला को चुनाव मैदान में उतार दिया है।

मलोट से मौजूदा विधायक और पंजाब विधानसभा में डिप्टी स्पीकर अजैब सिंह भट्टी की जगह आम आदमी पार्टी छोड़कर आई रूपिंदर कौर रूबी को टिकट दिया गया है। रूबी इससे पहले बठिंडा ग्रामीण से आम आदमी पार्टी की टिकट पर विधायक थीं। हरगोबिंदपुर से बलविंदर लाडी का टिकट काट कर मनदीप सिंह रंगड़ नंगल को, बल्लुआना से विधायक नाथूराम का टिकट काट कर उनकी जगह राजिंदर कौर को टिकट दिया गया है।

कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का करीबी होने की वजह से जिन नेताओं का मंत्रीपद छीना था, उन्हें फिर से टिकट दिया गया है। उनमें रामपुरा फूल से गुरप्रीत कांगड़, मोहाली से बलबीर सिद्धू, होशियारपुर से शाम सुंदर अरोड़ा, नाभा से साधु सिंह धर्मसोत के अलावा कैप्टन के सलाहकार रहे कैप्टन संदीप संधू को शामिल हैं।

From around the web