बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक, आगामी चुनाव पर फोकस,तय होगा रोडमैप

 

बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक आज भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित की गई है। पार्टी अब 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। विधायकों के साथ संगठन के पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां दी जाएंगी। खासकर आदिवासी और दलित वोटबैंक को साधने के लिए सत्ता-संगठन के संयुक्त कार्यक्रमों की रूपरेखा भी तैयार की जाएगी। इसके साथ ही बैठकों के दौरान आगामी पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव पर भी फोकस रहेगा।

जानकारी के मुताबिक बैठक का शुभारंभ सुबह 11 बजे होगा। उद्घाटन सत्र में पार्टी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश सह प्रभारी पंकजा मुंडे, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रहलाद पटेल व फग्गनसिंह कुलस्ते मौजूद रहेंगे।

बैठक में कुशाभाऊ ठाकरे जन्म शताब्दी वर्ष के आगामी कार्यक्रमों को लेकर पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत एवं प्रदेश में होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रम को लेकर पार्टी के सह संगठन महामंत्री हितानंद जी सत्र को संबोधित करेंगे। बैठक के प्रारंभ में शोक प्रस्ताव पारित करने के पश्चात पिछली कार्यसमिति बैठक की कार्यवाही का अनुमोदन होगा।

बैठक के द्वितीय सत्र में राजनैतिक प्रस्ताव प्रस्तुत होगा। साथ ही, टीकाकरण की उपलब्धियों को लेकर टीकाकरण धन्यवाद प्रस्ताव एवं राष्ट्रीय जनजाति गौरव दिवस का प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा। 26 नवंबर को संविधान दिवस भी है। अतः संविधान दिवस की चर्चा कार्यसमिति बैठक में होगी। कृषि एवं किसान कल्याण पर भी कार्यसमिति में विस्तार से चर्चा की जाएगी। पार्टी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव के संबोधन के बाद समापन सत्र को प्रदेश अध्यक्ष वीडी एवं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान संबोधित करेंगे।

1 से 6 दिसंबर तक होगी जिला कार्यसमिति की बैठक
प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि पार्टी के प्रशिक्षण अभियान के अंतर्गत सभी 1070 मंडलों में प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जा चुके हैं। एक से 6 दिसंबर तक जिला स्तर के प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जाएंगे। इसके साथ ही सभी जिलों की कार्यसमिति की बैठकें भी आयोजित की जाएंगी। मंडल कार्यसमिति की बैठकें 12 दिसंबर को होगी।

2 साल बाद हो रही एक्चुअल बैठक
बता दें कि कोरेाना महामारी के चलते अब तक वर्चुअल बैठकों का दौर चला है। अब कार्यसमिति की यह एक्चुअल बैठक होने वाली है। इस एक दिवसीय बैठक में चार सत्र होंगे। इस बैठक को आगामी समय में होने वलो नगरीय निकाय व पंचायत चुनावों के लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इससे पहले राजगढ़ में 8 सितंबर को वर्चुअल बैठक हुई थी। इस बैठक में सिर्फ 55 पदाधिकारियों के साथ उपचुनाव और OBC आरक्षण को लेकर रणनीति बनाई गई थी।

From around the web