भाजपा नेताओं ने पंजाब के मुख्यमंत्री का फूंका पुतला

 

किसान आंदोलन के नाम पर देश की जनता को गुमराह किया जा रहा है। यह किसान आंदोलन शुरू से ही नहीं था। यह राजनैतिक पार्टियों के संरक्षण से आंदोलन चल रहा है। इसको राजनैतिक पार्टियों ने अपना अड़्डा बनाया हुआ है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कार्यक्रम में बयान दिया कि पंजाब के किसान यहां पर धरना न दें। अगर किसानों को धरना देना ही है,तो हरियाणा और दिल्ली में धरना दें, जो कुछ भी करना है वहीं पर करें। पंजाब में कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री कैप्टन का यह बयान गैर जिम्मेदाराना है।

किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष सरंपच सुंदर की अध्यक्षता में बुधवार को मंडी धर्मशाला पलवल कमेटी चौक पर एकत्रित होकर पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का पुतला फूंका। वरिष्ठ भाजपा नेता व पूर्व विधायक सुभाष चौधरी ने बताया कि प्रदेश स्तर पर हरियाणा सरकार से ज्यादा किसान हितैषी सरकार पूरे देश में किसी राज्य की सरकार नहीं है। हमारे प्रदेश में 362 रुपये प्रति क्विंटल गन्ना का पूरे देश मे सर्वोच्च भाव किसानों को दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार कुल 10 फसलों को एमएसपी पर खरीददारी कर रही है। जबकि पंजाब केवल 4 फसलों को एम एस पी पर खरीदा है।

भाजपा सरकार किसान हितैषी

जिलाउपाध्यक्ष जगमोहन गोयल ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी का लक्ष्य किसानों की आय़ दोगुनी करना है। भाजपा सरकार किसान हितैषी सरकार है। किसानों को देश में आगे बढाने के लिए मोदी सरकार ने किसानों के कृषि बिल लाये हैं। किसानों के लिए सम्मान निधि योजाना के तौर पर 6 हजार प्रति वर्ष किसानों को सिर्फ भाजपा की सौगात मिल रही है। इस अवसर पर पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल, जिला उपाध्यक्ष महेंद्र भड़ाना, दीपक आर्या, देवप्राशद,अनुसूचित जिलाध्यक्ष यश भारद्वाज सहित आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

From around the web