Ramgopals meeting with Yogi योगी से रामगोपाल की मुलाकात का विवाद

0
18

समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने पर विवाद हो गया है। हालांकि कायदे से इसमें विवाद की कोई बात नहीं है। आमतौर पर दो विरोधी पार्टियों के नेता मिलते रहते हैं। विरोधी पार्टी के नेता भी अपनी मांग और शिकायतें लेकर मुख्यमंत्री के पास जाते हैं या सार्वजनिक कार्यक्रमों में उनकी मुलाकात होती है। रामगोपाल यादव भी इटावा में कुछ लोगों के खिलाफ हो रही पुलिस की कार्रवाई, फर्जी मुकदमे और ज्यादतियों की शिकायत करने मुख्यमंत्री के पास गए थे। लेकिन इस पर विवाद खड़ा कर दिया है उनके चचेरे भाई और हाल ही में सपा से अलग हुए शिवपाल यादव ने।

शिवपाल ने रामगोपाल यादव की ओर से मुख्यमंत्री को दी गई एक कथित चिट्ठी का कंटेंट जारी किया है और कहा है कि रामगोपाल ने मुसलमानों का मुद्दा मुख्यमंत्री के सामने नहीं उठाया। उन्होंने इस बहाने आजम खान को भी उकसाने की कोशिश की है और सपा के दूसरे मुस्लिम नेताओं को भी संबोधित करके कहा है कि रामगोपाल यादव ने उनकी बात नहीं उठाई इस विवाद के साथ साथ एक दूसरी चर्चा यह भी शुरू हो गई है कि शिवपाल यादव ने योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की तो उनकी सपा से विदाई हो गई और वे भाजपा के करीब हो गए। वैसे भी मुख्यमंत्री से जो भी मिलता है वह भाजपा में चला जाता है या भाजपा का करीबी माना जाने लगता है। कुछ लोग इस मुलाकात से भी यहीं नतीजा निकाल रहे हैं और सपा कार्यकर्ताओं तक यह मैसेज पहुंचा रहे हैं। इस लिहाज से यह मुलाकात सपा को नुकसान पहुंचाने वाली हो सकती है।