यह है दुनिया का सबसे घातक हेलीकॉप्टर, फीचर्स जानकर रह जाओगे हैरान

 
आज हम आपको एक सबसे घातक हेलीकॉप्टर के बारे में बताने जा रहे है जी हां अपाचे हेलिकॉप्टर दुनिया का सबसे घातक लड़ाकू हेलिकॉप्टर है। यही वजह है कि अमेरिका समेत कई देश इसका इस्तेमाल करते हैं।अपाचे हेलिकॉप्टर की डिजिटल कनेक्टिविटी और अत्याधुनिक सूचना प्रणाली इसे और खतरनाक बनाती है। इस हेलिकॉप्टर में जिस तरह की तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है, वो इसे दुर्गम स्थानों पर भी कारगर मारक क्षमता और सटीक सूचनाएं उपलब्ध करती हैं। सघन पर्वतीय क्षेत्रों में ये सबसे कारगर हेलिकॉप्टर है, जो पहाड़ियों और घाटियों में छिपे दुश्मन को भी आसानी से तलाशकर सटीक निशाना साध सकता है। इसे कई तरह के बड़े बम, बंदूकों और मिसाइलों से लैस किया जा सकता है।
 


नूक हेलिकॉप्टरों को फरवरी 2019 में हुए पुलवामा आतंकी हमले के ठीक बाद वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया था। भारत ने इन दोनों हेलिकॉप्टरों को अमेरिका से खरीदा है और इन्हें भारतीय सेनाओं की भविष्य की जरूरतों के हिसाब से विशेषतौर पर तैयार किया गया है। दोनों हेलिकॉप्टरों से भारतीय सेनाओं की ताकत कई गुना बढ़ गई है। जानें- चिनूक हेलिकॉप्टर की खासियतें।
 


#550 किलोमीटर है इस हेलिकॉप्टर की फ्लाइंग रेंज

#16 एंटी टैंक मिसाइल दाग उसके परखच्चे उड़ा सकता है ये हेलिकॉप्टर

#दुश्मन पर बाज की तरह हमला कर निकल जाने के लिए इसे तेज रफ्तार बनाया गया है।

#16 फ़ुट ऊंचे और 18 फ़ुट चौड़े अपाचे हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए दो पायलट होना जरूरी है।

#30 एमएम की 1,200 गोलियां एक बार में भरी जा सकती हैं, हेलिकॉप्टर के नीचे लगी बंदूकों में।

#इस हेलिकॉप्टर के बड़े विंग को चलाने के लिए दो इंजन होते हैं। इस वजह से इसकी रफ्तार बहुत ज्यादा है।

#इसका डिजाइन ऐसा है कि ये आसानी से रडार को चकमा दे सकता है।

#अपाचे हेलिकॉप्टर एक बार में 2:45 घंटे तक उड़ान भर सकता है।

#अपाचे हेलिकॉप्टर की डिजिटल कनेक्टिविटी व संयुक्त सामरिक सूचना वितरण प्रणाली अत्याधुनिक है।

#IAF के बेडे में शामिल अपाचे अपग्रेटेड वर्जन के हैं। इसकी तकनीक व इंजन को उन्नत किया गया है।

#यह मानव रहित हवाई वाहनों (यूएवी) को नियंत्रित करने की क्षमता से लैस है।

#बेहतर लैंडिंग गियर, क्रूज गति, चढ़ाई दर और पेलोड क्षमता में वृद्धि इसकी कुछ अन्य विशेषताएं हैं।

#युद्ध के मैदान की तस्वीर को कमांड सेंटर पर प्रसारित करने और वहां से प्राप्त करने की भी क्षमता है।

#अपाचे को अमेरिकी कंपनी बोइंग ने भारतीय सेना की जरूरत के हिसाब से विशेष तौर पर तैयार किया है।

From around the web