प्रथा के चलते काट दिया जाता है लड़कियों का ये नाजुक अंग

 

अभ्यास के नाम पर इंसानों के साथ क्या नहीं किया जाता है। आज भी कुछ जगहों पर महिलाएं और बच्चे भी सुरक्षित नहीं हैं, यानी अभ्यास के लिए उनके साथ कुछ किया जाता है। हम आपसे कुछ ऐसे रिवाजों के बारे में बात कर रहे हैं जिन्हें जानने के बाद शायद आपको यकीन न हो कि इस तरह का रिवाज भी हो सकता है। हम जिस तरह के रिवाज की बात कर रहे हैं। यह सबिनी नामक जनजाति द्वारा मनाया जाता है। यह बहुत ही अजीब और खतरनाक है जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। जानिए इस अभ्यास को।

आपको बता दें, सबिनी नाम की यह जनजाति युगांडा में रहती है और इस जनजाति के लोगों के रिवाज में लड़की के गुप्तांग का एक हिस्सा काट दिया जाता है। यह जाति इस प्रकार के रिवाज को इसलिए मानती है क्योंकि इससे साबित होता है कि लड़की अपने प्राइवेट पार्ट को काटते समय दर्द सहती है। वह किसी भी बड़ी कठिनाई को आसानी से पार कर सकती है। लड़कियों को दर्द रहित बनाने का एक तरीका है।

From around the web

>