ये एथलीट है सच्चा ‘बाजीगर’, जानें रेस खत्म होने से पहले खुद रुककर क्यों दूसरे को जिताया

 

हार कर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं’… फिल्म बाजीगर का यह डायलॉग स्पेन (Spain) के एक एथलीट पर बिल्कुल फिट बैठता है. एक खिलाड़ी के लिए खेल में हार या जीत से ज्यादा मायने रखता है उसे सच्चे मन से खेलना. इसका एक जीता-जागता उदाहरण सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जहां एक एथलीट अपने कॉम्पिटिटर को जिताने के लिए जानबूझकर हल्के दौड़ने लगा और फिनिश लाइन से पहले रुक गया. उनकी इस स्पोर्ट्समैन स्पिरिट की हर कोई प्रशंसा कर रहा है.

सैंटनर ट्रायथलॉन प्रतियोगिता में स्पैनिश ट्रायथलेट डिएगो मेंट्रिगा (Diego Mentriga) ने देखा कि उनके प्रतिद्वंद्वी जेम्स टेगल (James Teagle)ने फिनिश लाइन से ठीक पहले एक गलत मोड़ लिया. ब्रिटिश एथलीट की यह छोटी गलती मेंट्रिगा के फेवर में चली गई. लेकिन डिएगो मेंट्रिगा ने देखा कि जेम्स टेगल पूरी रेस में उनसे आगे रहे थे, इसलिए उन्होंने टेगल का इंतजार किया और उनको रेस पूरी करने का मौका दिया. टेगल ने आते ही पहले मेंट्रिगा से हाथ मिलाया और फिनिश लाइन को पार किया.


डिएगो मेंट्रिगा की इस स्पोर्ट्समैन स्पिरिट की हर कोई प्रशंसा कर रहा है. सोशल मीडिया पर उनके इस जेस्चर को खूब वाहवाही मिल रही है और लोग उनके सम्मान में पोस्ट कर रहे हैं. इन दोनों एथलीटों ने भी अपने-अपने इंस्टाग्राम पर इस वीडियो को डाला है. जेम्स टेगल ने पोस्ट करते हुए लिखा कि मेंट्रिगा ने अविश्सनीय खेल और खेल के लिए अपनी स्पिरिट दिखाई है.

इसके अलावा मेंट्रिगा ने भी अपने इंस्टाग्राम पर लिखा कि, ‘वो बचपन से ही ये सब सीखते आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मेरे ख्याल से इसे नॉर्मल समझा जाना चाहिए, मुझे नहीं पता था कि ये इतना पॉपुलर हो जाएगा और दुनियाभर के मीडिया इसके बारे में बात करेंगे. इतना प्यार मिलने पर मुझे बहुत खुशी है.’ इस खेल के आयोजकों ने मेंट्रिगा को 300 यूरो प्राइज के तौर पर दिए और तीसरे स्थान पर आने के लिए सम्मान दिया. इतनी ही राशि जेम्स टेगल को दी गई, वो भी तीसरे स्थान पर आए थे.


देश, विदेश, बिज़नेस, मनोरंजन और ऐसी सभी ख़बरों से जुड़े रहने के लिए हमारी ऐन्ड्रॉइड ऐप डाउनलोड करें - Bebak Post की App डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें  

From around the web

>