दुनिया भर में जज द्वारा दी गयी अजीबोग़रीब सजाये जिनको जानने के बाद उड़ जायेंगे आपके होश

 

आमतौर पे कोर्ट लोगों को उनके अपराध के मुताबिक ही सजा देता है। पर कई बार दुनिया के कुछ हिस्सों में ऐसा भी देखा गया है कि जज ने आरोपी को सुधरने के लिए बड़ी ही अजीबोगरीब सज़ा सुनाई है। जिसे जानने के बाद आप भी सोचेंगे की किसी को ऐसी भी सज़ा सुनाई जा सकती है। आज हम ऐसे ही कुछ अजीबोगरीब सजाओं के मामले आपके सामने लेकर आये है। ये ऐसी सजाये है जिनका जिक्र आपको कानून की किताबों में भी नहीं मिलेगा। तो चलिए जानते है उन हैरत में डालने वाली सजाओं के बारे में –

माता पिता की शिकायत करना बेटे को पड़ा महंगा

मामला स्पेन के एंडालूसिया का है। जहां पे एक 25 वर्षीय युवक ने अपने माता पिता की शिकायत पुलिस में इसलिए कर दी थी क्योंकि उन लोगों ने युवक पॉकेट मनी देने से मना कर दिया। ये मामला जब अदालत तक पहुंचा तो उसके बाद जज ने उल्टा उसी लड़के को सजा सुना दी कि अगले 30 दिन के अंदर उसे उसके माता-पिता का घर छोड़ना पड़ेगा और अपने पैरों पर खड़ा होना पड़ेगा।

आरोपियों को गधे के साथ करना पड़ा मार्च

अमेरिका के शिकागो शहर में साल 2003 में क्रिसमस के दिन दो लड़कों ने एक चर्च से ईसा मसीह की मूर्ति चुरा ली थी और उसे नुकसान भी पहुंचाया था। बाद में पुलिस ने इन दोनों लड़कों को पकड़ लिया। बाद में अदालत ने इन्हे 45 दिन के लिए जेल की सजा सुनाई गई थी। इसके अलावा उन्हें अपने गृहनगर में एक गधे के साथ मार्च करने का भी आदेश दिया गया था।

पसंदीदा ‘रैप’ सांग सुन्ना पड़ा महंगा

ब्रिटेन के रहने वाले एंड्रयू वेक्टर को कार में अपना पसंदीदा ‘रैप’ सुनना काफी महंगा पड़ गया। मामला 2008 का है जब एंड्रयू वेक्टर अपनी कार में तेज आवाज में अपना पसंदीदा ‘रैप’ सांग सुन रहे थे। उस वक्त उनपे 120 पाउंड का जुर्माना लगाया गया था। दोषी पाए जाने पे एंड्रयू को जज ने कहा कि वह जुर्माने की रकम घटाकर 30 पाउंड कर देंगे, बशर्ते कि वेक्टर को 20 घंटों तक बीथोवन, बाख और शोपेन का शास्त्रीय संगीत सुनना होगा।

सड़क दुर्घटना को लेकर दी अजीबोगरीब सज़ा

अमेरिका के एक शहर ओकलाहोमा में 17 साल के एक लड़के जिसका नाम टाइलर एलरेड था. वो लड़का शराब पीकर गाड़ी चला रहा था, जिसकी वजह से वो दुर्घटना का शिकार हो गए। जिसमे उसके एक दोस्त की मौत हो गई। चूंकि टाइलर उस समय हाई स्कूल में पढ़ते थे, इसलिए अदालत ने उन्हें हाई स्कूल और ग्रेजुएशन खत्म करने के अलावा साल भर के लिए ड्रग, शराब और निकोटिन टेस्ट करवाने के साथ ही 10 साल तक चर्च जाने की सजा सुनाई थी।

कार्टून सीरीज देखने की दी सजा

मामला अमेरिका के मिसौरी का है, जहां पे डेविड बेरी नाम के एक व्यक्ति ने सैकड़ों हिरणों का शिकार किया था। इस आरोप को लेकर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। बाद में 2018 में दोषी पाए जाने पे जज ने उसे एक साल तक जेल में रहकर महीने में कम से कम एक बार डिज्नी का बाम्बी कार्टून देखने की सजा सुनाई थी।

From around the web

>