कोरोना टेस्ट का लक्ष्य पूरा करने को डॉक्टर ने 15 बार दिया अपना ही सेपंल

 
भारत समेत दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोना वायरस  का खौफ देखने को मिल रहा है। भारत  में भी हर रोज COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गुरुवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस के मामले 57 लाख के पार हो गए हैं।वहीं दूसरी ओर कई देशों में कोरोना की वैक्सीन बनाने की कोशिश जारी है। लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर एक डॉक्टर का वीडियो काफी वायरल हो रहा है। जिसमें देखा जा रहा है कि एक डॉक्टर कोरोना टेस्ट के टारगेट को पूरा करने के लिए 15 बार अपना ही सेंपल दे रहा है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये मामला उत्तर प्रदेश के मथुरा से सामने आया है। वीडियो में साफ देखा जा सता है कि बलदेव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के एक डॉक्टर राजकुमार सारस्वत को सेंपल लेते हुए देखा जा सकता है। इतनी ही नहीं इन नमूनों को परीक्षण के लिए नकली नामों पर सीएमओ कार्यालय भेजा गया।इस मामले में राजकुमार सारस्वत ने स्वीकार भी किया है कि वो खूद ही कोरोना सेंपल दे रहा है ताकि दिया हुआ टारगेट पूर हो सके। इस बीच वीडियो में एक कर्मचारी कह रहा है कि सर इतने सारे टेस्ट न कराए आप बड़ी परेशानी में फंस सकते है। इस मामले का खूलासा तब हुआ जब इस सामुदायिक केंद्र के डॉक्टर अमित ने सीएमओ को शिकायत की।अमित ने आरोप लगाया है कि सीएचसी प्रभारी योगेद्र सिंह राणा ने सभी कर्मचारियों पर दबाव बनाया है कि अगर कोई मरीज सेंपल देने के लिए नहीं आ रहा है तो उसका फर्जी सेंपल ले। क्योंकि टारगेट पूरा नहीं किया तो उसका कॉनट्रेक्ट खत्म हो जाएगा।आगे इस मामले की जांच की जा रही है. स्वास्थ्य अधिकारी यदि दोषी पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

From around the web

>