बेटे को नहीं आई माता पिता की दया,देता था 4 दिन पूरानी रोटी

 

अक्सर बच्चे अपने माता-पिता के बूढ़ा होने के बाद उनके साथ कहीं जाने में संकोच करते हैं। वे उनकी जिम्मेदारी नहीं उठाना चाहते। लेकिन बच्चे यह भूल जाते हैं कि जब वे छोटे थे तो माता-पिता ने उनका ऐसे ही ख्याल रखा था, तो अब उनका फर्ज बनता है कि अब उन्हें अपने माता-पिता का सहारा बनना चाहिए। वही बेटा जब  माता पिता को बोझ समझने लगे तो ये बेहद ही शर्म की बात होती है यहां पर एक ऐसा ही चौंका देने वाला मामला सामने आया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये मामला कानपूर से सामने आया है। हैरान कर देने वाली बात है कि यहां पर पुलिस के सामने एक माता पिता ने अपने बेटे के दिए हुए जुल्मों के बारे में बताया है। दोनो की कहानी जिसने भी सुनी उसकी आंखे नम हो गई। क्योंकि बेटा अपने माता पिता को समय पर खाना भी नहीं देता था।

अगर गलती से देता भी है तो वो कुछ दिन पूरानी रोटी देता है।अगर उसके पास अच्छे खाने के लिए बोल देते है तो वो गालिया निकालने से बाज नहीं आता है। इस मामले पुलिस का कहना है कि जब दोनो पुलिस के पास आए तो उनकी ऐसी हालत थी कि वो कुछ देर और खड़े रह जाते तो वो बेहोश हो जाते है।बुजुर्ग शख्स का नाम शिवप्रकाश बताया जा रहा है। जिसने अपने बेटे के सपने को पूरा करने के लिए अपनी जिंदगी दाव पर लगा दी। क्योंकि बुढापे में उनके बेटे ने बहला फुसलाकर पूरी संपति अपने नाम करा ली है  लेकिन जमीन नाम करवाकर बेटे ने हमको मारना शुरू कर दिया।

From around the web

>