फ़ोन पर क्यों बोला जाता है हेल्लो जानिए

 

क्या आपने कभी सोचा है , हमेशा कॉल करने के बाद पहला शब्द हेल्लो (Hello) क्यों बोला जाता है ? शायद नही .. हम सभी अपनी दिनचर्या में कई चीजे करते है लेकिन उनके पीछे का कारण हम सभी को ही नहीं पता होता. अजीब बात यह है की हेल्लो (Hello) के आलावा कोई और शब्द क्यों नहीं बोलते

ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी के अनुसार , हेल्लो (Hello) शब्द हाला और होला से निकला है. इन शब्दों का इस्तेमाल नाव चलाने वाले व्यक्ति यानी नाविकों के बीच में होता था. इसके पीछे फ़्रांसिसी या जर्मनी शब्द होला का हाथ है जिसका अर्थ है ” क्या हाल है ? ”


दिलचस्प बात यह है की , टेलीफोन के आविष्कार के समय लोग Hello, Halloo, Hallow,  Hollo शब्दों की जगह Are you there ? का इस्तेमाल करते थे. Are you there ? पूछने का मतलब था की क्या उनकी आवाज वह सुन पा रहे है या नहीं.  जिसके बाद थॉमस एडिसन को यह वाक्य हर समय कॉल पर बोलना पसंद नहीं आया जिसके लिए उन्होंने हेल्लो Hello बोलना शुरू किया.

इसी प्रकार ग्रैहम बेल नाविकों की बोलचाल की भाषा का शब्द हाय (Hi) का इस्तेमाल करने लगे. जिसके बाद 1877 में एडिसन ने टेलीग्राफिक कम्पनी के साथ मिलकर कॉल के दौरान हेल्लो (Hello) को स्वागत शब्द के रूप में मान्यता की बात कही जिसे सभी ने मान लिया.

उस दौर में कॉलसेंटर्स पर काम करने वाली बालिकाओं को हेल्लो गर्ल (Hello Girl) कहा जाता था. इसी के साथ यदि आप BYE की फुल फॉर्म तलाश रहे है ” Be with you Everytime ”

From around the web